WTC Final: स्विंग और रिवर्स स्विंग के उस्ताद हैं टीम इंडिया के 3 बॉलर, कैसे बचेंगे कीवी?

0
14


भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल आज शुरू हो रहा है. (AP)

IND vs NZ, WTC Final: भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) का फाइनल आज (18 जून) शुरू हो रहा है. क्रिकेट इतिहास में पहली बार टेस्ट फॉर्मेट में विश्व चैंपियन मिलेगा.

नई दिल्ली. टीम इंडिया की मजबूत बैटिंग अटैक को तो सभी जानते हैं, लेकिन इंग्लैंड की कंडीशन को देखते हुए भारत की फास्ट बॉलिंग अटैक को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. भारत की ओर से आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के लिए घोषित प्लेइंग इलेवन में शामिल मोहम्मद शमी (Mohammed Shami), जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ऐसे तेज गेंदबाज हैं जो कीवी टीम की बल्लेबाजी को तहस-नहस कर सकते हैं. खास बात यह है कि बारिश होने से स्विंग की संभावना बढ़ गई है. भारत के तीनों बॉलर की असल ताकत स्विंग और सीम ही है. आइए जानते हैं कि किस तरह भारत के ये तीन पेसर न्यूजीलैंड की टीम को नेस्तानाबूत कर सकते हैं. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल (WTC Final) 18 जून से शुरू हो रहा है.

भारत की इन तीन पेसरों की यह तिकड़ी कितनी घातक हैं, इसका सबूत पिछले दो सालों के रिकॉर्ड को देखने के बाद मिलता है. भारत ने अक्टूबर 2018 के बाद से 8 में से सिर्फ 1 टेस्ट सीरीज गंवाई है. इस दौरान भारत ने लगातार दो बार ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में टेस्ट सीरीज में शिकस्त दी है. इस भारतीय तेज गेंदबाजी की इस तिकड़ी ने अबतक 11 टेस्ट मैच एक साथ खेले हैं. इन 11 टेस्ट को देखें तो जसप्रीत बुमराह ने सबसे ज्यादा 58 विकेट लिए हैं. उन्होंने इस दौरान 5 बार 5 विकेट लेने का कारनामा किया. स्ट्राइक रेट 44 का रहा. इशांत शर्मा 46 विकेट के साथ दूसरे नंबर पर रहे. औसत 19 का और स्ट्राइक रेट 45 का रहा. वहीं मोहम्मद शमी ने इस दौरान 27 की औसत से 45 विकेट लिए. स्ट्राइक रेट 48 का रहा. इस दौरान शमी और इशांत दोनों ने दो-दो बार 5 विकेट लेने का कारनामा किया.

भारतीय गेंदबाजों की तिकड़ी को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ आक्रमण में से एक माना जाता है. हालांकि, उन्हें न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी और नील वैगनर से कड़ी चुनौती मिलने वाली है. मोहम्मद शमी का मानना है कि भारतीय गेंदबाज न्यूजीलैंड से बेहतर हैं.

जसप्रीत बुमराह: छोटे रनअप से सटीक गेंदबाजीजसप्रीत बुमराह की खासियत है कि छोटे रनअप के साथ वह गेंद को तेजी से फेंकते हैं. इसकी वजह से बल्लेबाज उनकी गेंद को नहीं पढ़ पाते हैं. गति के साथ-साथ उनका नियंत्रण भी उन्हें विशेष बनाता है. वह सीम के साथ गेंद को स्विंग करा सकते हैं. इसके अलावा वो शानदार यॉर्कर भी फेंकते हैं. उनकी गेंदबाजी में कई और विविधताएं हैं. इसी के दम पर वह न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों के छक्के छुड़ा सकते हैं. बुमराह ने 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था. तब से वो 19 टेस्ट खेल चुके हैं. इसमें उन्होंने 22.10 की औसत से कुल 83 विकेट हासिल किए हैं. वो टेस्ट में पांच बार पांच विकेट भी ले चुके हैं. बुमराह ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैच खेले हैं और 6 विकेट झटके हैं. वहीं, इंग्लैंड की धरती पर बुमराह 25.92 की औसत से 14 विकेट झटक चुके हैं.

मोहम्मद शमी: स्विंग और रिवर्स स्विंग के उस्ताद

मोहम्मद शमी भले ही बहुत लंबे कद के नहीं हैं. वह बहुत अधिक फुर्तीले भी नहीं हैं, लेकिन उनकी गेंद की गति बहुत तेज होती है. उन्हें रिवर्स स्विंग विशेषज्ञ के रूप में जाना जाता है. वह दाएं हाथ के तेज गेंदबाज है, जो लगातार 145 से 150 किमी/घंटा (90 से 93 मील प्रति घंटे) के आसपास गेंदबाजी करता है. वह तेज गति से गेंद को स्विंग और सीम करते हैं, जो बल्लेबाजों को टेंशन में डालने के लिए काफी है. मोहम्मद शमी भारत के लिए 50 टेस्ट खेले हैं, जिनमें उन्होंने 27.58 की औसत से 180 विकेट झटके हैं. शमी न्यूजीलैंड के खिलाफ अबतक 33.78 की औसत से 23 विकेट ले चुके हैं. वहीं. इंग्लैंड की धरती पर 47.04 की औसत से शमी ने 21 विकेट हासिल किए हैं.

इशांत शर्मा लगा चुके टेस्ट मैच का शतक

जवागल श्रीनाथ की याद दिलाने वाली काया और रवैये के साथ इशांत शर्मा ने अपना डेब्यू किया था. 6’4 कद वाले इशांत शर्मा रिद्म के साथ लगभग 140 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से गेंदबाजी करने की क्षमता रखते हैं. वह 2013-14 में न्यूजीलैंड के दौरे पर प्रभावशाली थे. वह इस दौरे में शीर्ष विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे, जिन्होंने 15 विकेट लिए. इसमें दो बार पांच विकेट शामिल थे. उन्होंने भारत के लिए अबतक 101 टेस्ट मैच खेले हैं और 32.27 की औसत से 303 विकेट हासिल किए हैं. इशांत शर्मा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 7 मैचों में 24.14 की औसत से 35 विकेट झटके हैं. वहीं, इंग्लैंड की धरती पर उन्होंने 33.90 की औसत से 43 विकेट हासिल किए हैं. महेंद्र सिंह धोनी ने इशांत शर्मा का इस्तेमाल रक्षात्मक गेंदबाज के रूप में किया जो एक छोर से अंकुश लगाए रखते थे.







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here