World Food Day 2020: क्‍यों मनाते हैं विश्व खाद्य दिवस, जानिए इसका इतिहास और प्रभाव

0
2


World Food Day: भोजन एक बुनियादी और मौलिक मानव अधिकार है.

World Food Day: विश्व खाद्य दिवस (World Food Day) हर साल 16 अक्टूबर (16 October) को मनाया जाता है. इस दिन खाद्य सुरक्षा और पौष्टिक आहार की आवश्यकता को सुनिश्चित कर लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए कई खाद्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 16, 2020, 12:30 PM IST

विश्व खाद्य दिवस (World Food Day) हर साल 16 अक्टूबर (16 October) को मनाया जाता है. खाद्य सुरक्षा से जुड़े कई अंतरराष्ट्रीय संगठन जैसे अंतरराष्ट्रीय कोष कृषि विकास (International Fund for Agricultural Development) और विश्व खाद्य कार्यक्रम (World Food Program) आदि वैश्विक स्तर पर इसका आयोजन करते हैं. इस दिन भूखों के लिए खाद्य सुरक्षा और पौष्टिक आहार की आवश्यकता को सुनिश्चित कर उनमें जागरूकता फैलाने के साथ-साथ कई खाद्य कार्यक्रमों का आयोजन कर मनाया जाता है. संगठन का मूल उद्देश्य है कि भोजन एक बुनियादी और मौलिक मानव अधिकार है. आइए जानते हैं इसके बारे में सबकुछ.

विश्व खाद्य दिवस का इतिहास
विश्व खाद्य दिवस की नींव 1979 में 20वें महासम्मेल में रखी गई थी. खाद्य और कृषि संगठन (Food and Agriculture Organization) के सदस्य राज्यों ने इसका प्रस्ताव रखा था. संयुक्त राष्ट्र संगठन (United Nation Organization) की महासभा (General Assembly) के 5 नवंबर 1980 को इसकी पुष्टि की. साथ ही वैश्विक सरकारों और अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय संगठनों को इस दिवस को मनाने में योगदान देने का भी आग्रह किया. सदस्यों राज्यों के प्रस्ताव पर सहमति के बाद 16 अक्टूबर 1981 को विश्व खाद्य दिवस घोषित किया गया. इसके बाद से हर साल 16 अक्टूबर को विश्व खाद्य दिवस दिवस के रूप में मनाया जाता है.

ये भी पढ़ें – World Boss Day 2020: Covid 19 महामारी में वर्चुअली मनाएं बॉस डे150 देश निभाते हैं अहम भूमिका

खाद्य और कृषि संगठन (Food and Agriculture Organization) की स्थापना के जश्न के तौर पर दुनियाभर के 150 से अधिक देशों में इस दिन खाद्य संबंधी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. इन कार्यक्रमों के तहत वैश्विक स्तर पर भूख से पीड़ित लोगों के लिए जागरूकता फैलाने का काम किया जाता है. साथ ही भूखे लोगों को पौष्टिक आहार सुनिश्चित करवाने का प्रयास भी किया जाता है.

विश्व खाद्य दिवस का उद्देश्य
इस संगठन का उद्देश्य वैश्विक स्तर पर फैल रही भूखमरी को जड़ से खत्म करना है. विकासशील देशों में भूखों को खाद्य वस्तुएं सुनिश्चित करवाने में इन संगठनों की अहम भूमिका है. इस दिन को हर साल नई-नई थीम के साथ मनाये जाने का प्रावधान है. खाद्य और कृषि संगठन अन्य खाद्य संगठनों के साथ सहयोग कर वैश्विक पर खाद्य वस्तुओं से वंचितों के लिए नई-नई योजनाओं के तहत उनकी मदद करता है. 194 सदस्य राज्यों के साथ मिलकर यह संगठन दुनियाभर के 130 देशों में सराहनीय काम करता है.

ये भी पढ़ें – रिश्‍तों में इन बातों की करें नो एंट्री, दो दिलों के बीच नहीं आएंगी दूरियां

विश्व खाद्य दिवस 2020 की थीम
कोविड 19 (COVID-19) ने वैश्विक स्तर पर अपना प्रभाव छोड़ा है. वायरस के कारण विकासशील देशों के साथ विकसित देशों की भी अर्थव्यवस्था चरमरा गई है. ऐसे में इस साल इसकी थीम वायरस से प्रभावित कमजोर लोगों की मदद करने और खाद्य प्रणाली को उनके अनुकूल और अधिक टिकाऊ बनाने का ऐलान किया है.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here