Viral Video: लॉकडाउन में साइकिल पर घूम रहे थे कलेक्टर, महिला कांस्टेबल ने रोक पूछा- कहां जा रहे हो ?

0
1


हालांकि कलेक्टर के शहर में राउंड पर निकलने की सूचना पुलिस को मिल चुकी थी. लेकिन उन्हें इस बात का अंदाजा कतई नहीं था कि वे साइकिल पर घूम रहे हैं.

Bhilwara: टैक्सटाइल सिटी में मंगलवार को एक अजीब वाकया सामने आया. यहां लॉकडाउन (Lockdown) का जायजा लेने टी-शर्ट पहनकर साइकिल पर निकले जिला कलेक्टर को ड्यूटी पर तैनात महिला कांस्टेबल (District Collector) ने रोककर पूछा-”कहां जा रहे हो, घर में रहाे भाई”.

भीलवाड़ा. वस्त्रनगरी भीलवाड़ा में कोरोना से बचाव के लिये लागू किये लॉकडाउन (Lockdown) का जायजा लेने के बिना सरकारी तामझाम के साइकिल पर निकले जिला कलेक्टर (District Collector) को रास्ते में एक महिला कांस्टेबल ने रोक लिया. कांस्टेबल ने साइकिल सवार कलेक्टर से पूछा कि कहां जा रहे हो ? वस्तुस्थिति का पता चलने पर कांस्टेबल थोड़ी घबरा गई, लेकिन जिला कलेक्टर ने कांस्टेबल के इस कार्यशैली की प्रशंसा करते हुये कहा ”वैरी गुड इसी तरह मुस्तैद रहो”. दरअसल मंगलवार को जिला कलेक्टर शिव प्रसाद एम नकाते शहर में लॉकडाउन का जायजा लेने के लिये सुबह-सुबह साइकिल पर सवार होकर निकल पड़े. हालांकि कलेक्टर के शहर में राउंड पर निकलने की सूचना पुलिस को मिल चुकी थी. लेकिन उन्हें इस बात का अंदाजा कतई नहीं था कि वे साइकिल पर घूम रहे हैं. इस दौरान रास्ते में गुलमंडी इलाके में ड्यूटी पर तैनात महिला पुलिसकर्मी निर्मला स्वामी टी शर्ट पहने कलेक्टर को पहचान नहीं पायी और उसने उनको रोक लिया. इस पर कलेक्टर वहीं रुक गये.

Youtube Video

कलक्टर बोले “मैं हूं डीएम”कांस्टेबल ने कलेक्टर नकाते को पूछा कि ”कहां जा रहे हो. घर में रहो भाई”. इसी दौरान कलेक्टर के पीछे आ रहे गनमैन ने धीरे से कहा मैडम किसे रोक रही हो यह साब हैं. इतने में ही जिला कलेक्टर नकाते बोल पड़े और कहा “मैं हूं डी एम”. इस पर कांस्टेबल थोड़ी सपकपा गई. लेकिन कलेक्टर नकाते ने महिला कांस्टेबल के इस व्यवहार को बहेद सामान्य तरीके से लेते हुये उसकी मुस्तैदी की सराहना की और शाबााशी दी. उसके बाद कलेक्टर विभिन्न नाकों से होते हुये निकले और पुलिस के जवानों से मिले. कोरोना पॉजिटिव हो चुकी हैं कांस्टेबल कांस्टेबल निर्मला ने बताया कि वह और उसका बेटा दोनों कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं. इसलिये वे नहीं चाहती कि कोई और भी कोरोना की चपेट में आये. निर्मला का कहना है कि आंकड़े कम हुये हैं कोरोना नहीं. वह कोरोना के दर्द को जानती है. इसलिये लोगों से अपील कर रही है कि घर में रहो. बकौल निर्मला अब कलक्टर साब को क्या पड़ी हैं जो वो आपके लिए सुबह सुबह सड़कों पर घूमकर समझा रहे हैं. बीमारी की गंभीरता को समझो.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here