TOP 10 Sports News: वर्ल्ड कप फॉर्मेट में होगा बदलाव, वेंगसरकर ने इंग्लैंड दौरे पर उठाए सवाल

0
2


TOP 10 Sports News: 31 मई की टॉप-10 खबरें.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) वर्ल्ड कप-2027 के फॉर्मेट में बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है. इस टूर्नामेंट में एक बार फिर 14 टीमें हिस्सा ले सकती हैं. दिग्गज दिलीप वेंगसकर ने टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे को लेकर बीसीसीआई पर सवाल उठाए हैं.

नई दिल्ली. क्रिकेट वर्ल्ड कप-2027 के फॉर्मेट में बड़ा बदलाव होगा और एक बार फिर इस टूर्नामेंट में 14 टीमें हिस्सा लेंगी. एक रिपोर्ट के मुताबिक, राउंड रॉबिन की जगह सुपर सिक्स फॉर्मेट के आधार पर वर्ल्ड कप खेला जाएगा. पूर्व भारतीय कप्तान और चीफ सेलेक्टर दिलीप वेंगसकर ने टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे को लेकर सवाल उठाए हैं. अजीत अगरकर ने भारत को सलाह दी है कि न्यूजीलैंड को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में हल्के में नहीं लेना चाहिए.

क्रिकेट वर्ल्ड कप (ICC World Cup 2027) में एक बार फिर आईसीसी बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है. रिपोर्ट के मुताबिक, एक बार फिर इस टूर्नामेंट में 14 टीमें हिस्सा लेंगी और राउंड रॉबिन की जगह सुपर सिक्स फॉर्मेट के आधार पर वर्ल्ड कप खेला जाएगा. आईसीसी यह फॉर्मेट 2027 वर्ल्ड कप में लागू करेगी. बता दें साल 2003 वर्ल्ड कप में सुपर सिक्स फॉर्मेट का इस्तेमाल किया गया था. साल 2019 वर्ल्ड कप में आईसीसी ने राउंड रॉबिन फॉर्मेट को अपनाया जिसमें 10 टीमों ने हिस्सा लिया और एक टीम ने 9 मैच खेले.

पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजीत अगरकर का मानना है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में न्यूजीलैंड टीम को हल्के में नहीं लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि अंडरडॉग का टैग तक न्यूजीलैंड टीम से हट गया है. भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथम्पटन में 18 जून से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेला जाएगा. उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स से कहा कि केन विलियमसन की कप्तानी वाली न्यूजीलैंड टीम को किसी भी हाल में कमतर नहीं समझना चाहिए. अगरकर ने कहा, ‘चाहे टी20 वर्ल्ड कप हो, चैंपियंस ट्रॉफी या फिर 50 ओवर का वर्ल्ड कप, न्यूजीलैंड टीम हमेशा क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल या फाइनल में पहुंची है.’

पूर्व भारतीय कप्तान और चीफ सेलेक्टर दिलीप वेंगसकर ने टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे को लेकर सवाल उठाए हैं. टीम इंडिया को अगले महीने इंग्लैंड में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलना है. 18 जून से भारत और न्यूजीलैंड फाइनल में भिड़ेंगे जिसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज 4 अगस्त से शुरू होगी. ऐसे में फाइनल और टेस्ट सीरीज के बीच लगभग डेढ़ महीने का अंतराल रहेगा. इसे लेकर वेंगसरकार ने सौरव गांगुली के अगुवाई वाले बीसीसीआई को कटघरे में खड़ा कर दिया है.

अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान असगर अफगान को उनके पद से हटा दिया गया है. अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने सोमवार को हुई बैठक में ये बड़ा फैसला लिया. असगर अफगान को हटाने की वजह जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज है जिसमें असगर अफगान की रणनीति पर लगातार सवाल खड़े हो रहे थे. अफगानिस्तान बोर्ड ने असगर अफगान की जगह हशमतुल्लाह शाहिदी को टीम की कमान सौंपी है. रहमत शाह को टीम का उपकप्तान बनाया गया है. टी20 टीम का कप्तान कौन होगा इस पर अभी फैसला होना बाकी है. लेग स्पिनर राशिद खान टी20 टीम के उपकप्तान बने रहेंगे

पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने कहा है कि पैट कमिंस के ना खेलने से उनकी फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स पर कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन के बाकी मैचों को यूएई में आयोजित करने का ऐलान किया है. हालांकि विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता पर सवाल खड़े हो रहे हैं. मशहूर कमेंटेटर चोपड़ा ने अपने यूट्यूब वीडियो में केकेआर फ्रेंचाइजी पर ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों की अनुपस्थिति के प्रभाव का विश्लेषण किया है. उन्होंने सुझाव दिया कि अगर लॉकी फर्ग्युसन केकेआर के लिए उपलब्ध रहते हैं, तो केकेआर टीम कमिंस को उतना मिस नहीं करेगी.

कोपा अमेरिका इस साल ब्राजील में आयोजित किया जाएगा. सोमवार को दक्षिण अमेरिका की सर्वोच्च फुटबॉल संस्था कॉनमेबोल ने इसका ऐलान किया. हालांकि इसका शेड्यूल बदलेगा या नहीं इसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है. बता दें कॉनमेबोल ने अर्जेंटीना की मेजबानी भी खारिज कर दी थी क्योंकि वहां कोविड—19 के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. अर्जेंटीना और कोलंबिया को कोपा अमेरिका की संयुक्त मेजबानी सौंपी गयी थी. कोलंबिया में राजनीतिक उथल पुथल के कारण उसे पहले ही संयुक्त मेजबान से हटा दिया गया था. अर्जेंटीना ने अकेले मेजबानी करने की पेशकश की थी लेकिन अब वह भी इसका आयोजन नहीं कर पाएगा और टूर्नामेंट ब्राजील शिफ्ट कर दिया गया है.

भारतीय कप्तान मिताली राज ने युवा क्रिकेटर शेफाली वर्मा के खेल की तारीफ की है. उन्होंने साथ ही शेफाली को तीनों फॉर्मेट की टीम में जगह मिलने का स्वागत किया और कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज में मिली हार के बाद इंग्लैंड में जीत की राह पर लौटने के लिए यह जरूरी है. कोरोना वायरस महामारी के कारण काफी समय खेल से दूर रही भारतीय महिला टीम एक टेस्ट, तीन वनडे और तीन टी20 मैचों के दौरे के लिए इंग्लैंड रवाना होने वाली है.

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर ने हाल ही में यह कहते हुए काफी सुर्खियां बटोरीं कि भारत कप्तान विराट कोहली की तुलना में मुख्य कोच रवि शास्त्री की टीम है. ऑस्ट्रेलिया में भारत की टेस्ट सीरीज की जीत का उदाहरण देते हुए पनेसर ने कहा था कि यह शास्त्री का ‘आत्म-विश्वास’ था जिसने पहले मैच के बाद कोहली के जाने के बावजूद दर्शकों को जश्न मनाने का मौका किया. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट पनेसर के विचार से असहमत हैं और उन्होंने इस बयान को अतार्किक बताया. बट ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘मुझे समझ में नहीं आता कि किसी को ऐसा कहने की जरूरत क्यों होगी. विराट इतने रन बना चुके हैं, क्या इसके बिना इतना अच्छा जीत का अनुपात मिलना संभव था? वह एक सीरीज के लिए नहीं थे, एक या दो असफल सीरीज सामान्य हैं लेकिन फिर भी आप उनका योगदान नहीं छीन सकते.’

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने सोमवार को कहा कि सितंबर में यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के बाकी बचे हुए मैचों में भाग लेने पर ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटरों से अभी चर्चा शुरू नहीं की गई है. एक साल तक अंतरिम आधार पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख रहे हॉकले ने सोमवार को मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नियुक्त होने के बाद कहा कि आईपीएल पर निर्णय के लिए इंतजार करना होगा क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी दो सप्ताह के होटल क्वारंटीन को पूरा करने के बाद अपने परिवारों से मिल रहे है.

भारत के युवा टेस्ट ओपनर शुभमन गिल ने कम समय में अपना नाम बनाया और टेस्ट टीम में एंट्री की. ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गिल ने डेब्यू किया और जबर्दस्त पारियां खेल खुद को साबित भी किया. अब शुभमन गिल के सामने इंग्लैंड दौरे की चुनौती है जहां वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल और पांच टेस्ट मैचों की सीरीज उनका इंतजार कर रही है. इस अहम दौरे से पहले ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग ने कहा है कि मानसिक तौर पर गिल बेहद मजबूत हैं लेकिन उनकी बल्लेबाजी में एक कमजोरी है जिसपर उन्हें काम करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘शुभमन को अगर ऑफ स्टंप के बाहर गेंद को मारने का न्योता दिया जाए तो वो एक तरह का आधा कट और आधा बैकफुट ड्राइव खेलते हैं. आपको लगातार उसी जगह पर गेंदबाजी करनी चाहिए. मुझे यही उनकी कमी नजर आती है.’









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here