Advertisement

Sawai Madhopur : नाबालिग का रेप करवाने की आरोपी कांग्रेस नेत्री पूजा उर्फ पूनम चौधरी गिरफ्तार


पूनम 20 दिनों से फरार चल रही थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Sawai Madhopur minor rape case: पुलिस ने इस मामले में पूर्व में कांग्रेस नेत्री रह चुकी पूजा उर्फ पूनम चौधरी (Poonam Chaudhary) को गिरफ्तार कर लिया है. पूनम इस केस के मुख्य सूत्रधारों में शामिल बताई जा रही है.

सवाई माधोपुर. नाबालिग बालिका का रेप (Rape case) करवाने के मामले में पुलिस ने एक और बड़ी सफलता अर्जित की है. पुलिस ने इस मामले की एक और मुख्य आरोपी पूजा उर्फ पूनम चौधरी (Poonam Chaudhary) को गिरफ्तार कर लिया है. पूनम चौधरी को भी मामले में मुख्य सूत्रधार (Main master) भी माना जा रहा है. पुलिस के मुताबिक नाबालिग पीड़िता को चंगुल में फंसाने वाली पूजा उर्फ पूनम चौधरी ही थी. उसने नाबालिग को अपने जाल में फंसाकर सुनीता वर्मा के हवाले किया था.

मामले के जांच अधिकारी ने बताया कि पूनम चौधरी मामला दर्ज होने की बाद से ही लगातार फरार चल रही थी. वह 20 दिनों से फरार थी. पुलिस उसकी तलाश में लगातार उसके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही थी. आरोपी पूनम चौधरी को पुलिस ने सूरवाल क्षेत्र से गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि पूनम चौधरी की गिरफ्तारी से कई अहम राज फाश हो सकते हैं. पूजा उर्फ पूनम चौधरी कांग्रेस संविदा सेवा दल की पदाधिकारी रह चुकी है. पुलिस उससे गहन पूछताछ में जुटी है.

सवाई माधोपुर नाबालिग रेप केस: BJP महिला नेत्री ने महज 2000 रुपयों की खातिर पीड़िता को इलेक्ट्रीशियन के हाथों सौंपा

अब तक आधा दर्जन से ज्यादा आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैंइस बहुचर्चित केस में अब तक आधा दर्जन से ज्यादा आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं. इनमें पूनम चौधरी के अलावा बीजेपी की महिला नेत्री रह चुकी सुनीता वर्मा को भी गिरफ्तार किया जा चुका है. सुनीता के साथ ही उसके साथी हीरालाल, जिला उद्योग केंद्र के लिपिक संदीप शर्मा, कलक्ट्रेट के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी श्योराम मीणा और खंडा कॉलोनी इलेक्टीशियन राजूलाल रेगर की गिरफ्तारी हो चुकी है. सुनीता वर्मा बीजेपी महिला मोर्चे की सवाई माधोपुर जिलाध्यक्ष रही है. इस केस में उसकी संलिप्तता को देखते हुये पार्टी ने उसे तुरंत ही बाहर का रास्ता दिखा था. इस केस में बार-बार यौन शोषण की शिकार हुई नाबालिग बालिका को सुनीता वर्मा से पूजा उर्फ पूनम चौधरी ने मिलवाया था.

कई चौंकाने वाले खुलासे हुये थे
उल्लेखनीय है कि पीड़िता के परिजनों ने इस संबंध में गत 22 सितंबर को मामला दर्ज कराया था. यह मामला सुनीता वर्मा और सहयोगी हीरालाल सहित पूजा उर्फ पूनम चौधरी के खिलाफ नामजद दर्ज कराया गया था. पुलिस ने जब मामले की गहराई से जांच की तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुये थे. इस केस के बाद सवाई माधोपुर की राजनीति गरमा गई थी.





Source link

Advertisement
sabhijankari:
Advertisement