Rajasthan News: 1000 कोविड हेल्थ कंसल्टेंट का होगा चयन, एक पंचायत पर एक कोरोना स्वास्थ्य सहायक

0
4


राजस्थान के ग्रामीण अंचलों में कोरोना की रोकथाम के लिये कोविड कंसलटेंट की भर्ती की जायेगी. (फाइल फोटो)

राजस्थान में एक हजार कोविड़ हेल्थ कंसल्टेंट का चयन होगा. हर ग्राम पंचायत पर 1 कोविड़ स्वास्थ्य सहायक, पीएचसी पर 2 सीएचसी पर 3 कोविड़ स्वास्थ्य सहायक का नियोजन होगा.

  • Last Updated:
    May 19, 2021, 8:11 PM IST

जयपुर. राजस्थान में एक हजार कोविड हेल्थ कंसल्टेंट का चयन होगा. हर ग्राम पंचायत पर 1 कोविड स्वास्थ्य सहायक, 2 सीएचसी पर 3 कोविड स्वास्थ्य सहायक का नियोजन होगा. शहरी क्षेत्र में हर वार्ड में 2 स्वास्थ्य सहायक की नियुक्ति होगी. जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी का गठन होगा. कोविड़ कंसल्टेंट सेंटर और घर-घर सर्वे कार्य में सेवाएं ली जाएंगी. प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अखिल अरोड़ा ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है. प्रदेश में कोविड के संक्रमण की कड़ी को तोड़ने, संक्रमित मरीजों को समुचित उपचार देने, उन्हें चिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध कराने, मृत्यु दर को न्यूनतम करने के लिए घर-घर सर्वे और दवाई वितरण के कार्य में तेजी के लिए जिला स्तर पर ‘कोविड हेल्थ कन्सलटेन्ट‘ और ‘कोविड स्वास्थ्य सहायकों‘ को 31 जुलाई 2021 तक नागरिक सुरक्षा विभाग द्वारा चयन या मनोनयन करने के निर्देश दिए हैं. चिकित्सा विभाग के प्रमुख सचिव अखिल अरोड़ा ने बताया कि प्रदेश 1 हजार कोविड हेल्थ कंसलटेंट नियोजित किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि कोविड हेल्थ कंसलटेन्ट के लिए न्यूनतम योग्यता MBBS एवं राजस्थान मेडिकल काउंसिल में पंजीकृत होना कोविड स्वास्थ्य सहायक के लिए न्यूनतम योग्यता नर्स ग्रेड द्वितीय, जीएनएम और आरएनसी में पंजीकृत होना आवश्यक है. कोविड हेल्थ कंसलटेंट को मासिक मानदेय 39 हजार 300 रुपए और कोविड स्वास्थ्य सहायक को मासिक मानदेय 7900 रुपए दिया जाएगा. अखिल अरोड़ा ने बताया कि कोविड हेल्थ कंसलटेंट की सेवाएं कोविड सेंटर तथा घर-घर सर्वे कार्य को गति देने तथा पर्यवेक्षण के लिए ली जाएगी. प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रत्येक ग्राम पंचायत पर एक, पीएचसी पर 2 और सीएचसी पर 3 कोविड स्वास्थ्य सहायकों को नियुक्त किया जाएगा. शहरी क्षेत्रों के लिए प्रति वार्ड दो कोविड स्वास्थ्य सहायकों का नियोजन जिला चिकित्सालय, कोविड केयर सेंटर, ऑक्सीजन मॉनीटर और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए किया जाएगा. उन्होंने बताया कि कोविड स्वास्थ्य सहायको का नियोजन संबंधित सीएचसी या पीएचसी एवं ग्राम पंचायतों में व जिले में कोविड संक्रमण की स्थिति की गंभीरता के आधार पर किया जाएगा.प्रमुख सचिव ने बताया कि कोविड हैल्थ कन्सलटेन्ट और कोविड स्वास्थ्य सहायक के नियोजन के लिए प्रत्येक जिला, ग्रामीण या शहरी क्षेत्र में स्थानीय निवासी को प्राथमिकता दी जाएगी. उन्होंने बताया कि इनके नियोजन के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी, जिसमें जिला कलक्टर या जिला कलक्टर द्वारा नामित अतिरिक्त जिला कलक्टर अध्यक्ष होंगे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सदस्य सचिव और उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (स्वास्थ्य) सदस्य होंगे.







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here