PAC रैंकिंग में केरल, गोवा और चंडीगढ़ सबसे सुशासित राज्य, लिस्‍ट में UP और बिहार सबसे नीचे

0
2


PAC रैंकिंग में केरल सबसे सुशासित राज्य. (फोटो साभार-AP)

PAC Ranking: संगठन के मुताबिक इस श्रेणी में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), ओडिशा (Odisha) और बिहार (Bihar) आखिरी पायदान पर हैं. इन राज्यों की पीएआई अंक नकारात्मक है. रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश को रिणात्मक1.461, ओडिशा को रिणात्मक1.201 और बिहार को रिणात्मक1.158 पीएआई मिला है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 31, 2020, 3:46 PM IST

बेंगलुरु. पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) द्वारा शुक्रवार को यहां जारी पब्लिक अफेयर इंडेक्स (PAI)-2020 के मुताबिक बड़े राज्यों की श्रेणी में केरल देश का सबसे सुशासित राज्य है जबकि उत्तर प्रदेश सबसे निचले पायदान पर है. बेंगलुरु से संचालित गैर लाभकारी संगठन ने शुक्रवार को वार्षिक रिपोर्ट जारी की. इस संगठन के अध्यक्ष भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व प्रमुख के कस्तूरीरंगन हैं. पीएसी ने कहा कि राज्यों की रैंकिंग स्थायी विकास के संदर्भ में एकीकृत सूचकांक पर आधारित है. रिपोर्ट के मुताबिक शासन के संदर्भ में बड़े राज्यों की श्रेणी में शीर्ष चार रैंकों पर दक्षिणी राज्य- केरल (1.388पीएआई सूचकांक अंक), तमिलनाडु (0.912), आंध्र प्रदेश (0.531) और कर्नाटक (0.468)- काबिज हैं.

संगठन के मुताबिक इस श्रेणी में उत्तर प्रदेश, ओडिशा और बिहार आखिरी पायदान पर हैं. इन राज्यों की पीएआई अंक नकारात्मक है. रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश को रिणात्मक1.461, ओडिशा को रिणात्मक1.201 और बिहार को रिणात्मक1.158 पीएआई मिला है. छोटे राज्यों की श्रेणी में गोवा को 1.745 पीएआई के साथ शीर्ष रैंकिंग मिली है. इसके बाद मेघालय (0.797), और हिमाचल प्रदेश (0.725) का स्थान है. इस श्रेणी में सबसे खराब प्रदर्शन मणिपुर (रिणात्मक 0.363), दिल्ली (रिणात्मक 0.289) और उत्तराखंड(रिणात्मक0.277) का है.

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने देश की पहली सी-प्लेन सेवा को दिखाई हरी झंडी, केवड़िया से साबरमती तक भरी उड़ान

ये भी पढ़ें: BSF ने अवैध तरीके से सीमा पार करने के आरोप में 5 बांग्लादेशियों और 12 भारतीयों को पकड़ापीएसी के मुताबिक 1.05 पीएआई के साथ चंड़ीगढ़ देश का सबसे बेहतरीन शासित केंद्र शासित प्रदेश है. इसके बाद पुडुचेरी (0.52), लक्षद्वीप (0.003), दादरा और नगर हवेली (रिणात्मक 0.69) का स्थान है. पीएसी के मुताबिक सुशासन का आकलन स्थायी विकास के संदर्भ में तीन आधारों समानता, विकास और निरंतरता के आधार पर किया गया. इस मौके पर कस्तूरीरंगन ने कहा, ‘ पीएआई- 2020 से जो साक्ष्य और अंतरदृष्टि मिलती है वह हमें भारत के भीतर चल रहे आर्थिक और सामाजिक बदलाव पर विचार करने के लिए विवश करती है.’

तमिलनाडु को सबसे सुशासित राज्यों की सूची में स्थान दिया गया है: मुख्यमंत्री पलानीस्वामी
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने शनिवार को यहां कहा कि राज्य को विकसित करने की प्रतिबद्धता के साथ किए जा रहे दृढ़ प्रयासों से तमिलनाडु देश के सबसे सुशासित राज्यों में शामिल हुआ है. पलानीस्वामी ने ट्वीट किया कि तमिलनाडु को भारत के सबसे सुशासित राज्यों में शामिल किया गया है. उन्होंने कहा, ‘यह हमारे दृढ़ प्रयासों और राज्य को विकसित बनाने की प्रतिबद्धता का नतीजा है. हम आगे भी मिलकर काम करना जारी रखें और तमिलनाडु को भारत का सबसे सुशासित राज्य बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत करें.’

मुख्यमंत्री ने स्थायी विकास के संदर्भ में एकीकृत सूचकांक के आधार पर सुशासन संबंधी राज्यों की रैंकिंग की खबर भी साझा की. पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) द्वारा शुक्रवार को यहां जारी पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई)-2020 के मुताबिक सुशासन के मामले में बड़े राज्यों की श्रेणी में शीर्ष चार स्थान पर दक्षिणी राज्य- केरल (1.388 पीएआई अंक), तमिलनाडु (0.912), आंध्र प्रदेश (0.531) और कर्नाटक (0.468)- काबिज हैं.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here