IPL 2021: चेन्नई सुपरकिंग्स की हार की वजह, क्या धोनी हैं टीम का सबसे कमजोर पहलू?

0
2


चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मुकाबले में शून्य पर आउट हो गए. उन्हें आवेश खान ने क्लीन बोल्ड किया. (PIC:PTI)

महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की अगुआई वाली चेन्नई सुपर किंग्स(CSK) को दिल्ली कैपिटल्स(Delhi Capitals) ने पहले मैच में सात विकेट से हरा दिया. धोनी न तो बल्लेबाजी औऱ न की कप्तानी में अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे. टीम को इसका खामियाजा हार के रूप में उठाना पड़ा.

नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के लिए आईपीएल 2021 (IPL 2021) की शुरुआत अच्छी नहीं रही. पहले ही मैच में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने उसे सात विकेट से हरा दिया. इस मैच में न धोनी का बल्ला चला और न कप्तानी. दोनों ही रोल में वो बेरंग दिखे और टीम को इसका खामियाजा हार के रूप में उठाना पड़ा. सीएसके की हार की सबसे बड़ी वजह उनकी गेंदबाजी रही. सीएसके का कोई भी गेंदबाज दिल्ली के बल्लेबाजों को रोकने में सफल नहीं रहा. अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि 189 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली ने पावरप्ले के पहले 6 ओवर में बिना विकेट गंवाए 65 रन बना दिए. ये दिल्ली का चेन्नई के खिलाफ पावरप्ले में सबसे बड़ा स्कोर है. इसके बाद सीएसके मैच में वापसी ही नहीं कर पाई.

खुद मैच के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी कहा कि बल्लेबाजों ने अपना काम बखूबी किया और टीम को 188 तक पहुंचाया. हम बेहतर गेंदबाजी कर सकते थे और अगर बल्लेबाज आपको फील्ड के ऊपर से शॉट्स लगा रहे हैं, तो यह अच्छी बात नहीं है. गेंदबाज बेहतर प्रदर्शन नहीं कर सके और बेहद कमजोर गेंदबाजी की. हालांकि, मैच के नतीजे में ओस की भूमिका को लेकर भी धोनी ने अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि ओस पर काफी कुछ निर्भर करता था और मैच की शुरुआत से ही ये चीज हमारे दिमाग में थी. इसलिए हम ज्यादा से ज्यादा रन बनाना चाहते थे. इस मैदान पर हर मैच में 200 का स्कोर बनाना जरूरी होगा.

धवन और पृथ्वी की पार्टनरशिप न तोड़ पाना भी भारी पड़ा सीएसके के लिए शिखर धवन और पृथ्वी शॉ की साझेदारी को न तोड़ पाना भी भारी पड़ा. इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 138 रन की साझेदारी की. यह दिल्ली कैपिटल्स की ओर से 69 पारियों में पहली 100 प्लस रन की पार्टनरशिप है. सीएसके को मैच में वापसी के दो बड़े मौके मिले, लेकिन टीम ने इसे गंवा दिया. दरअसल, चेन्नई के फील्डर्स ने पृथ्वी शॉ के दो कैच छोड़े. अगर वो ये कैच पकड़ लेते तो मैच का रुख और नतीजा बदल सकता था. इसके बाद शॉ ने 38 गेंद पर 72 रन और धवन ने 54 गेंदों पर 85 रनों की पारी खेली. ये दोनों जब तक आउट हुए दिल्ली की जीत लगभग तय हो चुकी थी.

CSK vs DC Highlights, IPL 2021: गुरू धोनी पर भारी पड़ा शिष्य पंत, दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई को हराया

चेन्नई की मैच में खराब शुरुआत
दिल्ली के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स की शुरुआत खराब रही थी. दो विकेट 7 रन पर ही गिर गए थे. इसी वजह से टीम पहले पावरप्ले(1-6 ओवर) का पूरा फायदा नहीं उठा पाई और 33 रन ही बना सकी. विकेट बचाए रखने के चक्कर में बाद में आए बल्लेबाज तेजी से रन नहीं जोड़ पाए और बल्लेबाजी के लिए मुफीद पिच पर टीम 200 रन का आंकड़ा नहीं पार कर सकी. सुरेश रैना (54), मोईन अली (36) और अंबाती रायडु (23) को छोड़ दें, तो कोई बल्लेबाज चला ही नहीं. इसी वजह से टीम बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर पाई.

TOP 10 IPL and Sports News: पंत की अगुवाई ने दिल्ली ने चेन्नई को हराया, आज कोलकाता से भिड़ेगी हैदराबाद

धोनी से पहले जडेजा खेलने आए
इस मैच में धोनी की कप्तानी को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. मैच में जब टीम को तेजी से रन बनाने थे तो धोनी की जगह छठे नंबर पर रविंद्र जडेजा बल्लेबाजी करने आए. उन्होंने 17 गेंद पर 26 रन तो बनाए. लेकिन ये नाकाफी साबित हुए. इसके बाद खेलने आए धोनी तो बिना खाता खोले ही आउट हो गए. उन्हें आवेश खान ने बोल्ड कर दिया. धोनी आईपीएल में चौथी बार शून्य पर आउट हुए. इसके अलावा सुरेश रैना की जगह नंबर तीन पर मोईन अली को बल्लेबाजी के लिए भेजा गया. धोनी का ये फैसला भी समझ से परे रहा. क्योंकि रैना पिछले कई सालों से सीएसके लिए तीन नंबर पर बल्लेबाजी कर रहे हैं और यहीं खेलते हुए सबसे ज्यादा रन बनाए हैं.







Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here