Advertisement

Iphone यूजर्स के लिए बुरी खबर, 12-सीरीज में ग्राहकों को डब्बे में मिलेगा सिर्फ फोन


12 सीरीज के आईफोन बॉक्स में पॉवर एडप्टर नहीं होगा

कंपनी ने बताया कि 12 सीरीज के आईफोन बॉक्स में पॉवर एडप्टर नहीं होगा लेकिन यूजर्स को USB-C लाइटनिंग केबल जरूर मिलेगा.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 14, 2020, 4:11 PM IST

Apple ने Iphone की 12 सीरीज लॉन्च कर दी है, लेकिन इस बार जब आप आईफोन 12 सीरीज का फोन खरीदेंगे तो आपको इसकी पैकिंग सामान्य Iphone की पैकिंग से थोड़ी अलग होगी. क्योंकि इस बार कंपनी ग्राहकों को आईफोन के साथ इस बार आपको चार्जिंग एडप्टर नहीं देगी. अभी तक सभी पुराने आईफोन के साथ में एडप्टर मिलता था, लेकिन 12 सीरीज के किसी भी फोन के साथ में कंपनी एडप्टर नहीं दे रही है.

Iphone के साथ मिलेगा सिर्फ USB-C लाइटनिंग केबल
कंपनी ने बताया कि 12 सीरीज के आईफोन बॉक्स में पॉवर एडप्टर नहीं होगा लेकिन यूजर्स को USB-C लाइटनिंग केबल जरूर मिलेगा.

कंपनी क्यों नहीं दे रही एडप्टर?कंपनी ने बताया कि आईफोन 12 के साथ एडप्टर नहीं देने से बॉक्स की साइज छोटी हो जाएगी और 70 फीसदी ज्यादा बॉक्स शिप किए जा सकेंगे. इसके अलावा यह भी कहा गया है कि इस बदलाव से सालाना दो मिलियन मेट्रिक टन कार्बन एमिसन की खपत भी बंद हो जाएगी. यह प्रति वर्ष 4 लाख 50 हजार कारों को सड़कों से हटाने के बराबर है.

एडप्टर न देने से कम आएगी लागत
नए स्मार्टफोन बॉक्स से चार्जिंग एडप्टर को हटाने के कई कारण हैं. फोन निर्माताओं के लिए यह अहम तरीके से लागत को कम करने में मदद कर सकता है, क्योंकि वे प्रत्येक फोन के निर्माण के लिए संसाधनों पर एक चार्जर की बचत करेंगे. यह संख्या लॉन्च के कुछ महीनों के भीतर लाखों में होगी, विशेष रूप से लोकप्रिय फोन के लिए यह फायदेमंद है. यह फोन की पैकेजिंग को छोटा और अधिक कॉम्पैक्ट बनाने में मदद करता है, जिससे एक ही समय में अधिक फोन भेजे सा सकेंगे. जो निश्चित रूप से पर्यावरण के लिए बहुत अच्छी खबर है.

होगी शिपिंग चार्जिस की बचत
इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि इससे पैकिंग के सामान की भी कम जरूरत होगी. इसके अलावा कंपनियों के लिए यह शिपिंग चार्ज बचाएगा क्योंकि छोटे पैकेज में अधिक फोन भेजने में सुविधा रहेगी.

Q4 में कंपनी ने भेजे 368.8 मिलियन स्मार्टफोन
रिसर्च फर्म IDC के मुताबिक, 2019 की चौथी तिमाही में 368.8 मिलियन स्मार्टफोन शिप किये गए. इसे वार्षिक अनुमान के हिसाब से देखें तो एक अरब से ज्यादा फोन विश्व भर में भेजे गए. इसका मतलब यह है कि फोन के साथ चार्जर भी शिप किए जाते हैं. इसलिए लागत को बचाने के लिए कंपनी ने यह फैसला लिया है.





Source link

Advertisement
sabhijankari:
Advertisement