India vs Sri Lanka Series: धोनी से ‘ट्रेनिंग’ मिलने के बाद टीम इंडिया में शामिल हुआ ये खिलाड़ी!

0
3


नई दिल्ली. कृष्णप्पा गौतम (Krishnappa Gowtham) को क्रिकेट के उनके शुरुआती दिनों में टीम के साथी खिलाड़ी ‘भज्जी (हरभजन सिंह का उपनाम)’ के नाम से बुलाते थे लेकिन इस हरफनमौला खिलाड़ी ने अपने तरीके से जिस तरह से ‘कैरम बॉल’ को इजाद किया उससे उनकी गेंदबाजी में रविचंद्रन अश्विन का प्रभाव ज्यादा दिखाता है . गौतम उन छह नये खिलाड़ियों में से एक है जिसे श्रीलंका के खिलाफ सीमित ओवरों की श्रृंखला के दौरे के लिए चुना गया है. इस दौरे पर 13 जुलाई से 25 जुलाई के बीच भारतीय टीम को तीन एकदिवसीय और इतने ही टी20 मैचों की श्रृंखला खेलनी है.

गौतम से जब भारतीय टीम में चयन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘ आप वर्षों से जो सपना देखते है, जब वह सच होता है तब आप सबसे ज्यादा खुश होते है.’घरेलू क्रिकेट में कर्नाटक के लिये लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले गौतम इस साल इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में सुर्खियों में आये थे. चेन्नई सुपर किंग्स ने 32 साल के इस खिलाड़ी के लिए बड़ी बोली लगायी थी. गौतम ने कहा, ‘ अपने करियर की शुरुआत में मैं भज्जी पा (हरभजन सिंह) की नकल करता था और मेरे साथी मुझे भज्जी कहते थे.’भज्जी की तरह ‘दूसरा गेंद’ डालने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘ नहीं, मैं ‘दूसरा’ नहीं फेंकता लेकिन ‘कैरम गेंद’ फेंकता हूं.’

अपने दम पर विकसित की कैरम बॉल-गौतम

प्रथम श्रेणी में 166, लिस्ट ए में 70 और टी20 में 42 विकेट लेने वाले इस खिलाड़ी से जब पूछ गया कि क्या उन्होंने अश्विन को देखकर कैरम बॉल करना सीखा है तो उन्होंने कहा, ‘ मैंने इसे अपने दम पर विकसित किया है. यदि आपको शीर्ष स्तर पर खेलना है, तो आपको अपने दम पर कौशल विकसित करने की जरूरत होती है. अपने जूनियर दिनों में, मुझे ईरापल्ली प्रसन्ना सर ने भी कोचिंग दी है.’उन्होंने कहा, ‘ जाहिर है, आप अश्विन जैसे दिग्गज को देखते हैं. मुझे अश्विन की मानसिकता और खेल के प्रति दृष्टिकोण पसंद है.’गौतम ने धोनी से काफी कुछ सीखा

आईपीएल में चेन्नई की टीम ने गौतम के लिए 9.25 करोड़ रूपये की बोली लगायी थी लेकिन टीम में मोईन अली की मौजूदगी के कारण उन्हें मौका नहीं मिला. उन्होंने कहा, ‘ आईपीएल में मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं है. आईपीएल जैसे टूर्नामेंटों में आपको मैच की ज्यादा चिंता किये बगैर खुद का समर्थन करना होता है. आप मुकाबले में अपनी नीलामी की कीमत के कारण मैदान में नहीं उतरते है.’महेन्द्र सिंह धोनी से मिली सलाह के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘माही भाई का सबसे अहम सुझाव यह होता है कि मौजूदा समय का लुत्फ उठाओ. अपने नैसर्गिक खेल का समर्थन करो और उसी तरह से खेलो जिसे सबसे अच्छे तरीके से जानते हो.’

गौतम हालांकि राष्ट्रीय टीम से पहले जुड़े रहे हैं. इंग्लैंड के पिछले भारत दौरे पर वह टेस्ट श्रृंख्ला के दौरान नेट गेंदबाज के तौर पर दल में शामिल थे. उन्होंने कहा, ‘ देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को गेंदबाजी करना हमेशा अच्छा होता है और आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है. जाहिर तौर पर यह भारतीय टीम के शानदार खिलाड़ियों को गेंदबाजी करने का अनुभव शानदार था.’

द्रविड़ की मौजूदगी में काम होगा आसान-गौतम

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 12 बार पांच विकेट लेने वाले गौतम ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने 50 ओवर के प्रारूप में 141 और टी20 में 160 के स्ट्राइकरेट से रन बनाये हैं. राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के निदेशक राहुल द्रविड़ भारत की सीमित ओवरों के इस श्रृंखला में टीम के मुख्य कोच के रूप में यात्रा करने की संभावना है. गौतम ने कहा कि उनकी उपस्थिति से निश्चित रूप से उनका काम आसान हो जाएगा. उन्होंने कहा, ‘ अगर आपने इंडिया ए खेला है, तो आप जानते हैं कि राहुल सर एक कोच के रूप में कैसे हैं और एक खिलाड़ी के रूप में वह आपसे क्या उम्मीद करेंगे. जब आप पहले उनकी देखरेख में खेल चुके है तो इससे आपको उस दौरे के लिए अच्छी तैयारी करने का बेहतर मौका मिलता हैं. यह सीखने का एक शानदार अनुभव होगा. ‘



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here