CRPF Corona Update: सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों पर कोरोना का कहर, 10 दिन में 6000 से ज्यादा केस

0
6


अधिकारी ने कहा कि प्रशिक्षण केंद्र में रहने वाले कोरोना की चपेट में जल्द आ जाते हैं क्योंकि पूरा बैच एक साथ रहता है. (File pic PTI)

Corona infection in CRPF: मई 8 से मई 17 तक के आंकड़े बताते हैं कि संक्रमित लोगों का जो आंकड़ा 8 मई को 69852 था, वो 17 मई को बढ़कर 75918 हो गया, यानी 10 दिनों में 6066 नए मामले सामने आए. उसी तरह 8 मई तक मौत का जो आंकड़ा 264 था वो 17 तारीख को बढ़कर 298 हो गया.

नई दिल्ली. पूरे देश में इस समय कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) तेजी के साथ फैल रही है. आम लोगों के साथ सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स (सीआरपीएफ) (Central Paramilitary Force) के जवान भी लगातार इस महामारी की चपेट में आते जा रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 10 दिनों में सीआरपीएफ के 6000 से ज्यादा जवान संक्रमित पाए गए हैं. जबकि संक्रमण के कारण 34 जवानों की मौत हो चुकी है. वर्तमान में सीआरपीएफ में कोरोना संक्रमण के 9300 एक्टिव केस हैं. CRPF, BSF, ITBP, CISF, SSB, NSG और NDRF के सम्मिलित आंकड़ों की बात करें तो अब तक 76 हजार से ज्यादा संक्रमण मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, 17 मई तक 290 जवान कोरोना संक्रमण के कारण जान गवां चुके हैं. 10 दिनों में 6 हजार से ज्यादा मामले मई 8 से मई 17 तक के आंकड़े बताते हैं कि संक्रमित लोगों का जो आंकड़ा 8 मई को 69852 था, वो 17 मई को बढ़कर 75918 हो गया, यानी 10 दिनों में 6066 नए मामले सामने आए. उसी तरह 8 मई तक मौत का जो आंकड़ा 264 था वो 17 तारीख को बढ़कर 298 हो गया. साफ जाहिर है कि 10 दिनों में 34 मौतें हुईं. इन दस दिनों के अंदर कोरोना संक्रमण के एक्टिव केसों की संख्या 9037 से बढ़कर 9381 हो गई है.ये भी पढ़ें: Train Cancel Alert: कोरोना का रेलवे पर असर, 22 मई से रद्द रहेंगी ये ट्रेन, यहां देखें पूरी लिस्ट 10 दिनों में 3690 लोगों ने दी संक्रमण को मात अगर कोरोना को मात देने वालों के आंकड़ों की बात करें तो इन दस दिनों में 3690 लोग ठीक हुए. सेंट्रल पैरामिलिट्री फ़ोर्स में सबसे ज्यादा 22216 लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि ठीक होने वाले सबसे ज्यादा 19235 लोग भी इसी दल के हैं. संक्रमण से सबसे ज्यादा 114 मौतें और सबसे ज्यादा एक्टिव 2867 केस देश और दुनिया की सबसे बड़ी पैरामिलिट्री फ़ोर्स CRPF के नाम ही दर्ज है.

इस बीच कोरोना की तीसरी लहर आने की ख़बरों के बीच सीआरपीएफ हेड क्वार्टर ने अपनी मेडिकल डायरेक्टर को इससे निपटने के लिए तैयारी करने का निर्देश दिया है. कोरोना की पहली लहर में बनाये गए इंफ्रास्ट्रक्चर को तैयार रखने और उपकरणों को ऑपरेशनल रखने को कहा है ताकि किसी भी हालात से निपटा जा सके.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here