Bihar STET Result 2021: मेरिट लिस्ट का चक्कर खत्म, पात्रता परीक्षा पास सभी अभ्यर्थी बन सकेंगे शिक्षक

0
5


पटना. एसटीईटी रिजल्ट के बाद लगातार हंगामा और आंदोलन को देखते हुए शिक्षा विभाग ने बड़ा फैसला लिया है. मेरिट लिस्ट से बाहर हुए अभ्यर्थियों को राहत दी है. शिक्षा विभाग ने अब एसटीईटी में qualified in merit list और qualified but not in merit list दोनों को शिक्षक बहाली का योग्य बताया और नया सर्कुलर जारी कर दिया है.

एसटीईटी 2019 में न्यूनतम उत्तीर्णता के आधार पर घोषित क्वालिफाइड अभ्यर्थी अब शिक्षक बनने के योग्य माने जाएंगे. दूसरी तरफ शिक्षा विभाग ने दूसरा बड़ा फैसला लिया है कि वर्ष 2011 के एसटीईटी पास अभ्यर्थियों का प्रमाण पत्र जिसकी अवधि इसी माह खत्म हो रही थी उसे जीवनपर्यन्त वैलिड कर दिया है.

2011 एसटीईटी पास सभी अभ्यर्थी भी अब 2019 के क्वालिफाइड अभ्यर्थियों की तरह सातवें चरण की शिक्षक बहाली और उसके आगे की नियुक्तियों में भाग ले सकेंगे और शिक्षक बन सकेंगे. राज्य में इसी साल माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में कुल 37 हजार 440 पदों पर शिक्षक बहाली होने वाली है जिसके लिए अब सभी एसटीईटी पास अभ्यर्थी योग्य माने जाएंगे.

बताते चलें की वर्ष 2019 एसटीईटी में कुल 15 विषयों की परीक्षा ली गई थी. जिसमें से मार्च माह में 12 विषयों का रिजल्ट जारी हो गया था बाकि 3 विषयों का रिजल्ट इसी सप्ताह जारी हुआ है. उसी के साथ बिहार बोर्ड ने मेरिट लिस्ट भी जारी की थी.

मेरिट लिस्ट में हजारों ऐसे अभ्यर्थी जो एसटीईटी पास थे उन्हें जगह नहीं दी गयी जिसके बाद बवाल मचा था. हालाकि अब नए फैसले के बाद मेरिट लिस्ट में आये अभ्यर्थियों के लिए चुनौतियां और प्रतियोगिता भी बढ़ गई है. क्योंकि सभी विषयों में खाली पड़े पदों पर पास हुए सभी अभ्यर्थियों की बहाली सातवें चरण में सम्भव नहीं है.

ये भी पढ़ें-
SSC Exam Postponed : एसएससी ने स्थगित की एमटीएस और दिल्ली एसआई भर्ती पेपर- 2 परीक्षा
PRSC Recruitment 2021: पंजाब रिमोट सेंसिंग सेंटर ने निकाली कई पदों पर नौकरियां, जानें डिटेल



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here