Action में CM Yogi, 6 महीने तक यह 13 अपराध करने वालों पर रहेगी खास नज़र

0
2


मुख्यमंत्री योगी ने इस मामले में सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिए हैं. (फाइल फोटो)

सीएम योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi adityanath) के आदेश पर अब अप्रैल 2021 तक रेप (Rape), मर्डर, छेडखानी जैसे 13 मामलों के खिलाफ सख्त अभियान शुरु किया जा रहा है. इसे मिशन शक्ति अभियान नाम दिया गया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 16, 2020, 7:30 PM IST

नई दिल्ली. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ  (UP CM Yogi adityanath)  के एक्शन का असर अब दिखाई देने लगा है. गले में माफीनामे की पट्टी डालने को मजबूर करने के साथ ही अपराधियों को कोर्ट से सजा कराकर जेल (Jail) भेजा जा रहा है. बीते एक साल में महिलाओं और बच्चों संग हुए अपराधों (Crime) के खिलाफ 14 सौ मामलों से जुड़े अपराधियों को सजा कराई गई है. कोरोना (Corona)-लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान भी अपराधियों (Criminals) के खिलाफ कार्रवाई की गई.

यह हैं वो 13 क्राइम, जिन पर रहेगी पुलिस की खास नज़र

अपर पुलिस महानिदेशक अभियोजन आशुतोष पाण्डेय ने बताया कि 17 अक्टूबर, 2020 से 22 अप्रैल, 2021 के बीच संचालित मिशन शक्ति अभियान की अवधि में प्रभावी अभियोजन के माध्यम से बलात्कार, बलात्कार सहित हत्या, बलात्कार के प्रयास एवं बालकों के विरूद्ध यौन अपराध करने वाले अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलायेगा और छेड़खानी, लज्जा भंग, पीछा करने वाले शोहदों, फब्तियां कसने वालों, अनायास घूरने वालों, तेजाब हमला करने वालों,
असम मदरसा विवाद: जब Azamgarh के मदरसे में पढ़ने वाले मौलाना ने पास की UPSC की परीक्षाअश्लीलता करने वालों, अनैतिक देह व्यापार कराने वालों, शराब पीकर हुड़दंग करने वालों, चेन स्नैचर्स और गुण्डा प्रवृत्ति के अपराधियों को भी उनकी जमानतें खारिज कराकर और कठोर सजा भी दिलायेगा, जिससे समाज में आमजन विशेषकर महिलाओं एवं बालिकाओं में सुरक्षा एवं विश्वास का वातावरण और अधिक बेहतर हो.

बीते एक साल में ऐसे की गई महिला अपराधों के खिलाफ कार्रवाई

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अभियोजन विभाग द्वारा प्रभावी पैरवी करते हुये अगस्त, 2019 से दिसम्बर, 2019 तक महिलाओं एवं बच्चों के खिलाफ हुए 926 मामलों में अपराधियों को सजा करायी जा चुकी है. साल 2020 में भी जब पूरी दुनिया कोरोना की महामारी से जूझ रही है, तो ऐसे विपरीत हालातों में भी अभियोजन विभाग द्वारा ऐसे 462 मामलों में 31 अगस्त, 2020 तक अपराधियों को सजा करायी जा चुकी है.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here