16 क्विंटल केबल चुराने का मामला: केबल चुराने के लिए बीएसएनएल अफसर बनकर शातिरों ने 6000 रुपए में किराए पर ली थी जेसीबी

0
2


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सेक्टर-10 पेट्रोल पंप के सामने बीएसएनएल की 16 क्विंटल केबल चुराने के मामले में पुलिस उस जेसीबी मशीन तक पहुंची है, जिससे मिट्‌टी खोदी गई थी। जेसीबी मशीन के मालिक का चोरी में कोई हाथ सामने नहीं आया है। पुलिस को पता चला है कि चोरी के मास्टरमाइंड ने जेसीबी मशीन और एक क्रेन 6000 रुपए पर किराए पर ली थी।

जेसीबी मालिक ने पुलिस को बताया कि उससे किसी ने फोन किया था। कॉल करने वाले ने खुद को बीएसएनएल का अफसर जितेंदर बताया था। उसने 6000 रुपए किराए पर क्रेन और जेसीबी मशीन ली थी मिट्‌टी खुदवाने के लिए। जेसीबी मालिक ने बताया कि सौदा तय होने पर उसने अपने दो भाइयों को क्रेन और जेसीबी लेकर मौके पर भेजा था।

भाइयों ने आरोपी से पूछा था कि उसके पास परमिशन है, तो आरोपी ने हां में जवाब दिया था। वीरवार रात 12 बजे खुदाई शुरू की गई और फिर वह तार उठवाकर ले गए। रात को जितेंदर खुद तीन लेबर को लेकर मौके पर आया था। उसने सामान लोड करवाया। फिर जेसीबी मालिक से कहा था कि अभी 12 दिन काम चलेगा, एक साथ रुपए दे देगा। पुलिस पेट्रोल पंप से मिली फुटेज के आधार पर जेसीबी मालिक तक पहुंची।

क्या हुआ था…

वीरवार देर रात को सेक्टर-10 से बीएसएनएल की करीब 10 लाख रुपए कीमत की तारें चोरी हो गईं। जब शहर में इंटरनेट और कॉल सर्विस ठप हुई तो बीएसएनएल ने इसकी जांच की तो चोरी का पता चला।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here