हिसार: 11 लाख की लूट और जिंदा जलने की झूठी साजिश रचने वाले राममेहर की एक और महिला मित्र गिरफ्तार

0
1


हिसार में फर्जी लूट केस का आरोपी राममेहर.

Murder Mystery: पुलिस जांच में सामने आया है कि राममेहर के 1.41 करोड़ रुपये के चार बीमे हैं.

हिसार. हांसी में पुलिस ने राममेहर की दूसरी महिला मित्र को भी गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है. दूसरी महिला मित्र डाटा गांव से ही ताल्लुक रखती है. कई सालों से दोनों के बीच जान-पहचान थी. पुलिस (Police) की गिरफ्त में अब खुराफाती राममेहर की दोनों महिला मित्र आ चुकी हैं और तीनों से वारदात के राज उगलवाने में पुलिस टीम जुटी हुई है. वहीं, पुलिस ने सोमवार को रमलू और राममेहर दोनों के परिवार के सदस्यों के डीएनए सैंपल लिए हैं. एक युवक की हत्या कर अपनी मौत का ड्रामा रचने वाला खतरनाक मंसूबे रखने वाला राममेहर भी सात दिनों के पुलिस रिमांड पर है और पुलिस सबूत एकत्रित करने में जुटी हुई है.

पुलिस ने मौका-ए-वारदात पर ले जाकर निशानदेही भी करवा ली है. सोमवार को पुलिस ने एक और महिला मित्र को षडयंत्र में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस का आरोप है कि दोनों महिला मित्रों को राममेहर ने वारदात के बाद जानकारी दी थी व इनके संपर्क में था. दोनों महिला मित्र इस बात से पूरी तरह वाकिफ थी कि राममेहर के दीमाग में कई खतरनाक प्लान चल रहे थे.

पुलिस सूत्रों के अनुसार डाटा गांव की महिला मित्र के खाते में ही राममेहर ने करीब ढ़ाई लाख रुपये जमा करवाए थे और उसके एटीएम कार्ड व ब्लैंक चैक अपने साथ ले गया था. पांच दिनों के रिमांड पर चल रही जगदीश कॉलोनी की महिला को राममेहर ने करीब 4.50 लाख रुपये देकर कहा था कि समय-समय पर जब जरूरत पड़े तो उसके खाते में जमा करवा देना.

पत्नी व बेटी नॉमिनीपुलिस जांच में सामने आया है कि राममेहर के 1.41 करोड़ रुपये के चार बीमे हैं. जिनमें से 7 लाख रुपये के बीमे में नॉमिनी अपनी बेटी को बनाया हुआ है व अन्य 50, 60 व 24 लाख रुपये के बीमे में अपनी पत्नी संतोष को नॉमिनी बनाया गया है.राममेहर ने बीमा राशि हड़पने के लिए वारदात को अंजाम नहीं दिया था वह केवल चाहता था कि बीमे से परिवार का कर्ज उतर जाएगी.

फूंक-फूंक कर कदम रख रही है पुलिस

पूरे देश में चर्चित हो चुके मामले में जिला पुलिस फूंक-फूंक कर कदम रख रही है. रमलू के परिवार के सैंपल लेने के अलावा राममेहर के परिवार के सदस्यों के डीएनए सैंपल लिए गए हैं. सूत्रों के अनुसार राममेहर की पत्नी व दो बच्चों के सैंपल हुए हैं, जबकि रमलू की माँ व दो बच्चों के सैंपल लिए गए हैं. पुलिस राममेहर के डीएनए का मिलान भी करना चाहती है. क्योंकि अभी तक रमलू की मौत केवल उसके परिवार के सदस्यों के बयान के आधार पर ही मानी जा रही है. पुलिस को अपनी जांच के लिए डीएनए रिपोर्ट चाहिए है. करीब डेढ़ महीने का समय डीएनए रिपोर्ट आने में लग जाता है.

डीएनटी चेयरमैन बोले – बच्चों को पढ़ाएंगे, परिवार को नौकरी दिलाएंगे

घुमंतु जनजाति विकास बोर्ड के चेयरमैन डॉ बलवान भी रमलू के परिवार से मिलने पहुंचे. उन्होंने कहा कि रमलू का परिवार इतना गरीब है कि दो वक्त की रोटी कैसे मिलेगी कोई नहीं जानता. ऐसे परिवार की सहायता करना समाज व सरकार दोनों का दायित्व है. रमलू के बच्चों को हमारी बोर्ड के स्कूल में पढ़ाने के लिए परिवार से कहा गया है. इसके अलावा सरकार ने एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता करने के लिए पत्र लिखा जाएगा व पत्नी को नौकरी कि मांग भी की जाएगी ताकि परिवार का जीवन यापन हो सके.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here