हिसार बाल सुधार गृह से 17 बाल बंदी फरार होने से मचा हड़कंप, अब तक 2 गिरफ्तार, पुलिस ने की नाकाबंदी

0
1


अधिकतर बाल बंदियों पर गंभीर आरोप हैं.

हिसार (Hisar) के बरवाला रोड स्थित ऑब्जर्वेशन होम से 17 बाल बंदियों के फरार होने से हड़कंप मच गया है. हालांकि अब तक पुलिस सिर्फ दो को ही गिरफ्तार कर सकी है. अधिकतर बंदी कत्ल, हत्या का प्रयास या पॉस्‍को एक्ट के तहत आरोपी हैं.

हिसार. हरियाणा के हिसार (Hisar) के बरवाला रोड स्थित बाल सुधार गृह से फरार हुए 17 बाल बंदियों में से 2 को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है. एक बंदी को चौधरीवास और दूसरे को तलवंडी राणा से गिरफ्तार किया है. जबकि अन्‍य बंदियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने गहन तलाशी अभियान छेड़ा हुआ है और जिला में सीमाओं की नाकाबंदी की हुई है. मंगलवार को जिला उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी और जिला पुलिस अधीक्षक बलवान सिंह राणा (Balwan Singh Rana) ने ऑब्जर्वेशन होम का दौरा किया और इस घटना की पूरी जानकारी ली. सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते हुए जरूरी दिशा निर्देश दिये गये. बता दें कि 12 अक्तूबर सोमवार को हिसार के ओबजर्वेशन होम से 17 बाल बंदी फरार हो गये थे. इन बंदियों ने ऑब्जर्वेशन होम के अंदर मौजूद तीन सुरक्षा कर्मियों पर हमला करके दरवाजों की चाबियां छीन ली और फरार हो गये. हालांकि इस दौरान बाहर मौजूद गार्ड ने किसी तरह मुख्य दरवाजा बंद करके बाकी बंदियों को भागने से रोक लिया था. यही नहीं, घायल सुरक्षा कर्मियों को इलाज के लिए सामान्य अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

जिला उपायुक्त ने कही ये बात
हिसार के जिला उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने बताया कि फरार बंदियों की घटना की जांच के लिए एडीसी, डीएसपी और डीपीओ डब्ल्यूसीजी के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया है. ये टीम बंदियों के फरार होने के कारणों की जांच करेगी. इसके अलावा जिला पुलिस अधीक्षक बलवान सिंह राणा के अनुसार भागे बंदियों में से अधिकतर कत्ल, हत्या का प्रयास या पॉस्‍को एक्ट के तहत आरोपी हैं. इन सभी फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीमें लगातार सर्च अभियान चला रही हैं.उम्मीद है कि जल्द ही बाकियों को भी पकड़ लिया जायेगा.

राज्य बाल संरक्षण आयोग की चेयरपर्सन ज्योदी बैंदा ने कहा कि ऑब्जर्वेशन होम का ड्यूटी रोस्टर और सीसीटीवी कैमरों की जांच की जा रही है. किसी भी स्तर पर खामियां पाई गयी तो जरूरी एक्शन लिया जायेगा. साथ ही बाल बंदियों की हियरिंग व काउंसलिंग की भी जांच की जायेगी. बता दें कि हिसार में ऑब्जर्वेशन होम से बाल बंदियों के भागने की ये पहली घटना नहीं है. इससे पहले 2017 में भी 5 बाल कैदी यहां से फरार हुए थे. बताया जाता है कि ऑब्जर्वेशन होम के अंदर केवल तीन ही सुरक्षा कर्मी थे. जबकि नियमों के हिसाब से अंदर मौजूद सुरक्षाकर्मी अपने साथ कोई भी हथियार या डंडे नहीं रख सकते. इसी बात का फायदा उठाते हुए इन बाल बंदियों ने सुरक्षा कर्मियों पर हमला बोलकर इस घटना का अंजाम दिया. अब देखना होगा कि पुलिस कब तक इन फरार बंदियों को पकड़ पाती है.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here