हादसा: कलर इंक की फैक्ट्री में आग से एक की मौत, तीन जख्मी, 7 फायर टेंडर ने 3 घंटे में बुझाया

0
3


पंचकूला3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सिद्धी विनायक इंटरप्राइजिज कलर इंक की फैक्टरी से उठती हुई आग की लपटें।

  • फैक्टरी में काम कर रहे दंपति समेत चार लोग आग में झुलसे थे, दो गंभीर हालत में पीजीआई रेफर

बलविंदर शम्मी. बुधवार को पिंजौर-नालागढ़ हाईवे किनारे मढ़ावाला-कौना के पास एक कलर इंक बनाने वाली फैक्टरी में आग लग गई। जिससे फैक्टरी में काम करने वाले दंपति समेत चार लोग आग की चपेट में आकर झुलस गए। दो लोगों की हालत गंभीर होने पर उन्हें पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। जहा 28 साल की रुबीना की मौत हो गई।

बुधवार दोपहर करीब सवा 12 बजे मढ़ावाला-कौना के पास सिद्धी विनायक इंटरप्राइजिस इंक कंपनी में अचानक आग लग गई। जिससे फैक्टरी में काम कर रहे योगेश पाटिल, जाकिर मलिक व जाकिर की पत्नी रूबिना और ईशान आग से झुलस गए।

नानकपुर सीएचसी के डाॅक्टर मुनीश गर्ग ने बताया कि उनके पास जब घायलों को लाया गया तो उस समय योगेश लगभग 100 फीसदी जला हुआ था और रूबिना 80 प्रतिशत, ईशान 50 प्रतिशत और जाकिर लगभग 40 प्रतिशत जला हुआ था। लेकिन बुधवार शाम को पीजीआई में भर्ती बदायूं यूपी निवासी 28 साल की रुबीना की मौत हो गई।

जबकि उसके पति जाकिर मलिक को सेक्टर-6 अस्पताल में भर्ती है, बाकी तीनों को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया था। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस की एक पीसीआर पहुंची, जो घायलों को उपचार के लिए उसी समय नानकपुर सरकारी सीएचसी में ले गए।

पीसीआर में तैनात होमगार्ड भीम सिंह ने बताया कि जब वे मौके पर पहुंचे तो उक्त चारों घायल फैक्टरी के बाहर आग से झुलसने के बाद मदद मांग रहे थे। लेकिन किसी ने भी उन्हें उठाने के लिए मदद नहीं की। ऐसे में घायलों को तत्काल पीसीआर में अस्पताल ले गए।

मौके पर पहुंचे पूर्व चेयरमैन जिला परिषद राजेश कौना ने इसकी सूचना मढ़ावाला चौकी इंचार्ज राम मेहर को दी, जिसके बाद चौंकी इंचार्ज की सूचना पर कालका से दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची। जानकारी के मुताबिक फैक्टरी में दवाइयों आदि की पैकेजिंग पर होने वाली प्रिंटिंग के लिए जो कलर इंक इस्तेमाल होती है। इस दौरान फैक्टरी में इथाइल एसिड के ड्रम रखे हुए थे।

फैक्ट्री में आग इतनी ज्यादा भयानक रूप ले चुकी थी कि एक दमकल की गाड़ी से नहीं बुझी और एसिड के ड्रम आग लगने से ब्लास्ट हो रहे थे। ऐसे में पुलिस ने आसपास की सभी झुग्गियों और मकानों को खाली करवा दिया था। एसडीएम संधू ने उसी समय बद्दी के हिमाचल से भी दमकल की गाड़ियां मंगवाई, ईओ निशा शर्मा ने पंचकूला से दमकल की गाड़ियां मंगवाई।

करीब साढ़े तीन घंटे बाद लगभग 7 दमकल की गाड़ियों से आग पर काबू पाया जा सका। वहीं, मौके पर एसडीएम कालका राकेश संधू, एसीपी कालका मुकेश जाखड़, तहसीलदार कालका विक्रम सिंगला, ईओ नप निशा शर्मा और पिंजौर थाना प्रभारी रामपाल सिंह भी पहुंचे।

जहां हुए भर्ती वहां भी लग गई आग

फैक्टरी की आग से झुलसे चारों लोगों को जैसे ही गांव नानकपुर की सीएचसी में ले गए कि अचानक अस्पताल के बिजली पैनल वाले बोर्ड में आग लग गई। ऐसे में डाॅक्टरों और स्टाफ में अफरा-तफरी मच गई। अस्पताल के इंचार्ज डाॅक्टर मुनीश गर्ग ने बताया कि गनीमत रही कि उनके स्टाफ ने आग बुझाने की ट्रेनिंग पहले से ही ले रखी थी। बताया कि आग के दौरान अस्पताल में कोरोना वैक्सीन, गायनी कैंप में आई महिलाओं समेत करीब 100 लोग मौजूद थे। जिन्हें पहले ही अस्पताल से बाहर निकाल दिया।

शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका: फैक्ट्री मालिक

सिद्धी विनायक इंटरप्राइजिस कलर इंक फैक्टरी के मालिक श्याम रमण पाटिल ने बताया कि यह आग शार्ट सर्किट से लगी होगी। बाकी फैक्टरी में कलर इंक बनाने के कैमिकल ड्रम रखे हुए थे, इस आग में काफी ज्यादा नुकसान हो गया है। बाकी जो लोग घायल है। उन्हें देखना प्राथमिकता है।

मढ़ावाला में उद्योगों की जांच के लिए कहा गया

फैक्ट्री में अभी आग के कारणों का पता नहीं चला है। मढ़ावाला में जो भी छोटे-बड़े उद्योग लगे हैं। उनका पूरा रिकार्ड और उनमें सुरक्षा के क्या प्रबन्ध है, जिस वजह से फैक्टरी में आग लगी है। पूरी जांच करवाने के लिए इंडस्ट्री डिर्पाटमेंट के डिप्टी डायरेक्टर गौरव शर्मा से बात की है।
– राकेश संधू, एसडीएम, कालका

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here