सुविधा: दिल्ली में लागू होगा एचआईएमएस, सभी को मिलेगा हेल्थ कार्ड

0
1


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • मुख्यमंत्री केजरीवाल ने प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक, फरवरी-2021 में हो जाएगा वेंडर का चयन

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन और विभागीय अधिकारियों के साथ महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली (एचआईएमएस) की समीक्षा की। इसमें एचआईएमएस, स्वास्थ्य कार्ड और स्वास्थ्य हेल्पलाइन की प्रगति पर चर्चा की गई।

विभागीय अधिकारियों ने सीएम को बताया वेंडर का चयन फरवरी 2021 तक कर लिया जाएगा और अगस्त तक इसे लागू कर दिया जाएगा। चयनित सेवा प्रदाता कंपनी एचआईएमएस का रख-रखाव जनवरी 2026 तक करेगी। केजरीवाल ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिए कि हेल्थ कार्ड के टेंडर को जल्द से जल्द अंतिम रूप दिया जाए और फरवरी 2021 तक वेंडर का चयन कर लिया जाए।

उन्होंने यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि इन कार्डों का वितरण जल्द से जल्द शुरू किया जाए। बैठक में, हेल्थकेयर हेल्पलाइन पर भी चर्चा हुई। सीएम ने संबंधित अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि अगले साल (2021) के मध्य तक इस मुहीम को अंतिम रूप दिया जाए। इस प्रोजेक्ट के तहत लोगों के स्वास्थ्य के डेटा को एकत्रित करने के लिए वेब पोर्टल व मोबाइल एप जैसी सुविधाएं लांच की जाएंगी।

राजधानी के सभी सरकारी अस्पतालों में लागू होगा एचआईएमएस

एचआईएमएस को अगस्त 2021 तक दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों में लागू कर दिया जाए। इसे लागू होने के बाद अस्पताल प्रशासन,बजट और योजना,आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, बैंक एंड सेवा समेत सभी सेवाएं सॉफ्टवेयर के माध्यम से डिजिटल हो जाएगी। इसके माध्यम से ही ई-हेल्थ कार्ड जारी किए जाएगे।

जिससे मरीज की पूरी डिटेल सिस्टम में आ जाएगी। इससे मरीज की बीमारी से लेकर पूरी जानकारी डिजिटल रूप से एक कार्ड में आ जाएगी। एचआईएमएस लागू होने के बाद दिल्ली देश का एकमात्र राज्य बन जाएगा, जहां क्लाउड आधारित स्वास्थ्य प्रबंधन प्रणाली होगी।

क्यूआर कोर्ड आधारित ई-हेल्थ कार्ड जारी होंगे
सरकार वोटर आईडी और जनसंख्या रजिस्ट्री के आधार पर दिल्ली के सभी निवासियों को क्यूआर कोड आधारित ई-हेल्थ कार्ड जारी करेंगी। जिससे प्रत्येक मरीज की जन सांख्यिकीय और बुनियादी क्लीनिकल जानकारी प्राप्त की जा सकेगी।

इससे स्वास्थ्य योजनाओं और कार्यक्रमों के लिए ई-हेल्थ कार्ड के माध्यम से पूरे परिवार की मैपिंग की जाएगी। ई-हेल्थ कार्ड को एचआईएमएस से जोड़ा जाएगा। साथ ही, लोगों के अनुरोध पर संशोधित या डुप्लीकेट कार्ड जारी करने के लिए प्रावधान भी किया जाएगा।

केंद्रीकृत स्वास्थ्य हेल्पलाइन के लिए कॉल सेंटर
इस स्कीम को लागू करने के लिए दो स्तर पर केंद्रीकृत कॉल सेंटर स्थापित होगा। पहले स्तर में कॉल सेंटर आपरेटर लोगों के कॉल और मैसेज प्राप्त करेंगे। सीआरएम को लॉग-इन कर केस का आंकलन करते हुए उसका समाधान कराएंगे और संबंधित उपलब्ध हेल्थकेयर स्टाफ को बताएंगे। आपरेटर कॉल करने वाले को संबंधित जानकारी देंगे और अंत में उसकी रिपोर्ट बनाई जाएगी।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here