संकट के बीच बड़ी चूक: गुड़गांव के कीर्ति अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने से छह पेशेंट की मौत, परिजनों का आरोप-ऑक्सीजन खत्म होने के बाद स्टाफ छोड़कर भागा

0
2


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुरुग्राम11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सेक्टर-56 स्थित कीर्ति अस्पताल �

  • इसी सप्ताह कथूरिया अस्पताल में गैस खत्म होने से हुई थी चार पेशेंट की मौत

गुड़गांव में प्रशासनिक अधिकारियों के ऑक्सीजन मुहैया करवाने के दावे शनिवार को धरे के धरे रह गए। सेक्टर-56 स्थित कीर्ति अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने से छह मरीजों ने दम तोड़ दिया। इससे पहले गुड़गांव के खांडसा रोड स्थित कथूरिया अस्पताल में भी इसी सप्ताह चार लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा रेवाड़ी जिला के एक अस्पताल में भी 16 पेशेंट की मौत ऑक्सीजन की कमी से हो गई थी। जिला में छह पेशेंट की मौत होने के मामले में अधिकारियों की कार्यशैली पर एक बार फिर सवाल उठ रहे हैं। कथूरिया अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने से चार पेशेंट की मौत के मामले में गुड़गांव के एसडीएम जितेन्द्र कुमार को जांच सौंपी गई है, लेकिन अभी तक जांच भी शुरू नहीं हो पाई है कि शनिवार को ऑक्सीजन खत्म होने से छह पेशेंट की सांसें थम गई। पेशेंट के परिजनों का आरोप है कि ऑक्सीजन खत्म होने के बाद जब पेशेंट सांसों के लिए तड़पने लगे तो अस्पताल का स्टाफ लाइटें बंद कर फरार हो गया। वहीं जब इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन से बात करने का प्रयास किया तो वे संपर्क नहीं हो पाया।

गुड़गांव के अस्पतालों में ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं, लेकिन इसके बावजूद भी हालात नहीं सुधरे हैं। कोरोना संक्रमण के बीच ऑक्सीजन की किल्लत कम नहीं हो रही है। सच्चाई यह है कि न शवों की गिनती हो रही है और न ऑक्सीजन की सप्लाई ठीक से हो पा रही। इस समय गुड़गांव में छोटे अस्पतालों को ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई व्यवस्था चरमराई हुई है तो बढ़ती मरीजों की संख्या में ऑक्सीजन बेड ही नहीं है। आज हालत यह है कि शहर में कई हजार मरीजों को ऑक्सीजन बेड की सख्त जरूरत है लेकिन कोई विकल्प नहीं है। हर रोज छोटे-छोटे अस्पतालों की तरफ से शिकायत आ रही है कि समय पर गैस सिलेंडर नहीं मिल रहे हैं। बड़ी भाग-दौड़ करने के बाद कुछ सिलेंडरों का प्रबंध हो पा रहा है। छोटे अस्पतालों में हालत यह है कि मरीज के स्वजन स्वयं भी अपने मरीज के लिए ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए मारे-मारे भटकते रहते हैं। यही वजह है कि कीर्ति अस्पताल में शनिवार को छह पेशेंट की मौत हो गई।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here