Advertisement

विदेशी शेयर बाजारों में कंपनियों की लिस्टिंग के नियम आसान होंगे, भारत में लिस्ट कराना जरूरी नहीं होगा


  • Hindi News
  • Business
  • India Will Not Mandate Secondary Listings For Firms Joining Overseas Markets

नई दिल्ली15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कंपनियों की विदेशी शेयर बाजारों में लिस्टिंग के लिए नियम जल्द तैयार हो जाएंगे।

  • विदेश में लिस्टिंग के बाद घरेलू बाजार में लिस्टिंग का नियम होगा
  • इससे कंपनियों को अच्छी वैल्यूएशन पाने में मदद मिलेगी

केंद्र सरकार विदेशी शेयर बाजारों में कंपनियों की लिस्टिंग से जुड़े नियमों को आसान बनाने जा रही है। इसको लेकर एक नई पॉलिसी बनाई जा रही है। सरकारी सूत्रों के हवाले से रॉयटर्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि विदेशी बाजारों में लिस्ट कराने वाली कंपनियों को भारत के शेयर बाजारों में लिस्ट कराना अनिवार्य नहीं होगा।

जल्द तैयार हो जाएंगे नियम

रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनियों की विदेशी शेयर बाजारों में लिस्टिंग के लिए नियम जल्द तैयार हो जाएंगे। नए नियमों में कंपनियों को पहले घरेलू शेयर बाजारों में लिस्टिंग की अनिवार्यता खत्म होगी। इससे स्टार्टअप्स और कंपनियों को ज्यादा वैल्यूएशन पाने और आसानी से पूंजी जुटाने में मदद मिलेगी।

घरेलू बाजार में लिस्टिंग अनिवार्य नहीं

ग्लोबल इन्वेस्टर्स और कंपनियों के साथ अधिकारियों की बातचीत में घरेलू बाजार में लिस्टिंग को अनिवार्य बनाने का मुद्दा सामने आया है। हालांकि, इस मामले से सीधे जुड़े एक अधिकारी का कहना है कि सेकेंडरी लिस्टिंग की जरूरत को अनिवार्य नहीं बनाया जाएगा।

सरकार ने क्यों बदला अपना रूख?

अधिकारी ने बताया कि हम सेकेंडरी (भारत) लिस्टिंग को अनिवार्य नहीं बनाएंगे। हालांकि, अधिकारी ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि सरकार ने अपना रूख क्यों बदला है? इससे पहले सरकार ने कहा था कि विदेशी शेयर बाजारों में लिस्टिंग की इच्छुक कंपनियों को पहले घरेलू बाजार में लिस्टिंग करानी होगी।



Source link

Advertisement
sabhijankari:
Advertisement