लीबिया में बंधक बनाए गए सात भारतीय छूटे, आतंकवादियों ने पिछले महीने किया था किडनैप

0
1


त्रिपोली. लीबिया में अगवा किए गए 7 भारतीय नागरिकों को (Indian Citizens Abducted in Libya) को छुड़ा लिया गया है. ट्यूनीशिया में भारत के राजदूत पुनीत रॉय कुंडल ने इस खबर की पुष्टि कर दी है. इन सभी को 14 सितंबर को आतंकवादियों ने अगवा कर लिया था. भारतीयों के अगवा होने की खबर आने के बाद से ही भारतीय विदेश मंत्रालय (External Affairs Ministry) और भारतीय दूतावास इनकी रिहाई की लगातार कोशिश कर रहा था. इन सभी सात भारतीयों की रिहाई की जानकारी ट्यूनीसिया में भारत की राजदूत ने रविवार को दी. ये सभी लोग आंध्र प्रदेश, बिहार, गुजरात, उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं. गौरतलब है कि लीबिया में भारत का कोई दूतावास नहीं है और ट्यूनीशिया में स्थित भारतीय दूतावास ही लीबिया में रह रहे भारतीयों के हितों की चिंता करता है.

सभी को अशवरीफ से किया गया था अगवा

इन भारतीय नागरिकों को लीबिया में अशवरीफ नाम की जगह से अगवा किया गया था. ये सभी कंस्ट्रक्शन और ऑयल कंपनी में काम कर रहे थे. इन्हें तब अगवा किया गया जब ये त्रिपोली एयरपोर्ट की तरफ जा रहे थे.त्रिपोली एयरपोर्ट की तरफ जाते समय किया गया था इन्हें अगवा

समाचार एजेंसी PTI के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने कहा कि उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात और आंध्र प्रदेश के रहने वाले 7 नागरिकों का अपहरण कर लिया गया था. त्रिपोली एयरपोर्ट पर जाते समय इनका अपहरण कर लिया गया था. ये लोग कंस्ट्रक्शन और ऑइल कंपनी में काम कर रहे थे.

वर्ष 2016 में भारत सरकार ने लीबिया जाने पर लगाई थी रोक

मंत्रालय ने कहा कि सुरक्षा हालात के मद्देनजर सितंबर 2015 में लीबिया नहीं जाने की एडवाइजरी जारी की गई थी. 2016 में सरकार ने यात्रा पर पाबंदी लगा दी थी. उन्होंने कहा कि सरकार इन नागरिकों की रिहाई के लिए काम कर रही है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने दो दिन पहले कहा कि ट्यूनीशिया में हमारे दूतावास ने लीबिया की सरकार और अंतरराष्ट्रीय संस्थानों से संपर्क किया है. अपहृत नागरिक सुरक्षित हैं और इनकी फोटो दिखाई गई है. हम अपहरण किए गए लोगों के परिजनों से लगातार संपर्क में हैं.

ये भी पढ़ें: चीन के साथ आज होगी वार्ता, पोम्पियो का बयान स्मोक बम है, इसे सीरियसली ना लें 

 बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ताइवान को दी बधाई, चीन ने कहा- आग में घी ना डालें

मंत्रालय ने कहा, “लिबियाई अधिकारियों और जहां वे लोग काम करते थे उनकी मदद से हम जल्द से जल्द अपने नागरिकों का पता लगा लेंगे और उन्हें अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ा लेगें.”





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here