राजस्थान के पंचायत चुनाव में विशेष योग्यजनों का नाम मतदाता सूची में नहीं छूटेगा

0
3


राजस्थान में पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियों का दौर शुरू हो गया है

पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में विशेष योग्यजनों की मतदान के दौरान शत प्रतिशत सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए, उनके लिए मतदान केंद्रों पर आवश्यक सुविधाओं, आने वाली समस्याओं के निवारण और रचनात्मक सुझावों के लिए विशेष योग्यजन की जिला स्तरीय समिति की बैठक हुई

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 15, 2020, 7:47 PM IST

जयपुर. राजस्थान के पंचायत चुनाव (Rajasthan Panchayat Election) में विशेष योग्यजन का नाम मतदाता सूची (Voter List) में नहीं छूटेगा. मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी सह कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने विशेष योग्यजनों की निर्वाचन प्रक्रिया में शत प्रतिशत सहभागिता के लिए विशेष योग्यजनों की जिला स्तरीय कमेटी की बैठक की. बैठक में पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में विशेष योग्यजनों की मतदान के दौरान शत प्रतिशत सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए, उनके लिए मतदान केंद्रों पर आवश्यक सुविधाओं, आने वाली समस्याओं के निवारण और रचनात्मक सुझावों के लिए विशेष योग्यजन की जिला स्तरीय समिति से सुझाव मांगे गए.

नेहरा ने कहा कि विशेष योग्यजनों की निर्वाचन प्रक्रिया में शत प्रतिशत सहभागिता आवश्यक है. उन्होंने निर्वाचन में विशेष योग्यजनों की सहभागिता की सुनिश्चितता के लिए अब तक सरकार के स्तर पर उठाए गए कदमों की जानकारी विशेष योग्यजनों के कल्याण के क्षेत्र में कार्य करने वाले एनजीओ के प्रतिनिधियों को दी. उन्होंने बताया कि विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के जरिए विशेष योग्यजन का डेटा उपलब्ध है, इसका मतदाता सूची से मिलान कराया जा रहा है. हर विशेष योग्यजन को मतदान करवाने के लिए केंद्र पर रैंप, व्हील चेयर, दृष्टिबाधित मतदाताओं के लिए मतदान केंद्र पर डमी बैलेट शीट्स और यूनिट की उपलब्धता, पेयजल, शौचालय, छाया युक्त बैठक, उनकी सहायतार्थ वालंटियर्स की व्यवस्था रखी जा रही है.

12वीं पास करने वाले 18 वर्ष की आयु प्राप्त विशेष योग्यजन का नाम मतदाता सूची में 

नेहरा ने शिक्षा विभाग के प्रतिनिधि को निर्देश दिए कि हर सीनियर सेकंडरी विद्यालय से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले 18 वर्ष की आयु प्राप्त विशेष योग्यजन का नाम मतदाता सूची में आवश्यक रूप से दर्ज कराया जाए. उन्होंने बैठक में आए गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों से विशेष योग्यजनों द्वारा शत प्रतिशत मतदान के लिए और उनकी सुविधाओं के लिए सुझाव आमंत्रित किए.

बैठक में आए एनजीओ प्रतिनिधियों ने विशेष योग्यजनों को मतदान दिवस पर मतदान केंद्र तक लाने-ले जाने की व्यवस्था, उनकी सहायता के लिए लगाए जाने वाले स्वयंसेवकों के प्रशिक्षण और उसमें एनजीओ को शामिल करने, ब्रेल लिपि के साथ ही आडियो में भी डमी बैलेट की उपलब्धता, मतदान टेबल की कम ऊंचाई रखे जाने, विशेष योग्यजन की पात्रता का दायरा बढ़ाकर मानसिक अक्षमता सहित कुल 21 प्रकार की अक्षमताओं के आधार पर भी विषेष योग्यजन का निर्णय करना जैसे सुझाव दिए.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here