ये यूक्रेन के ‘अंत की शुरुआत’ हो सकती है- जानें रूस ने ऐसा क्यों कहा

0
2


यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की ने शुक्रवार को युद्धग्रस्त डोनबास इलाके का दौरा किया. (AP)

Russia-Ukraine Conflict: रूस सरकार द्वारा संचालित रिया नोवोस्ती समाचार एजेंसी से बातचीत में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के डिप्टी चीफ ऑफ स्टाफ कोज़ाक ने कहा, ‘यह अपने पैर पर कुल्हाड़ी चलाने जैसा है, या कहें कि यह पैर पर नहीं चेहरे पर घाव करने जैसा है.’

मास्को. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के एक करीबी अधिकारी ने चेतावनी दी है कि अगर यूक्रेन (Russia-Ukraine Conflict) अपने पूर्वी हिस्से में अलगाववादियों पर चौतरफा हमले करता है, तो वह वहां रह रहे ‘रूसी भाषी लोगों की मदद करने के लिए हस्तक्षेप’ कर सकता है. रूसी अधिकारी दमित्रि कोज़ाक ने कहा है कि रूस की यह कार्रवाई यूक्रेन के अंत की शुरुआत हो सकती है.

रूस सरकार द्वारा संचालित रिया नोवोस्ती समाचार एजेंसी से बातचीत में पुतिन के डिप्टी चीफ ऑफ स्टाफ कोज़ाक ने कहा, ‘यह अपने पैर पर कुल्हाड़ी चलाने जैसा है, या कहें कि यह पैर पर नहीं चेहरे पर घाव करने जैसा है.’ पुतिन के इस वरिष्ठ सहयोगी ने साथ ही कहा, ‘पूर्वी यूक्रेन में अगर हमले जारी रहे तो रूसी नागरिकों की रक्षा के लिए मॉस्को को आगे आना पड़ सकता है.’

बता दें कि पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थित अलगाववादी विद्रोही और यूक्रेन की सेना के बीच लंबे वक्त से झड़प जारी है. इसके अलावा रूस यूक्रेन के साथ लगने वाली अपनी सीमा पर सैनिको की संख्या लगातार बढ़ा रहा है.

उधर अमेरिका ने पूर्वी यूक्रेन में आक्रामक कार्रवाई करने पर रूस को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है और बाइडन प्रशासन इस संबंध में रूस के खिलाफ अपनी नीति की समीक्षा कर रहा है. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने दैनिक ब्रीफिंग के दौरान कहा कि अमेरिका रूसी सैनिकों के यूक्रेन की सीमाओं की ओर बढ़ने के मामले पर क्षेत्र के अपने साझेदारों और सहयोगियों के साथ विचार-विमर्श और काम कर रहा है.साकी ने शुक्रवार को कहा, ‘इसके परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं. इनमें से कुछ प्रत्यक्ष तो कुछ अप्रत्यक्ष होगें. जल्द ही इस बारे में और अधिक जानकारी दी जाएगी.’ उन्होंने कहा, ‘जैसा कि हम जानते हैं कि यह पूर्वी यूक्रेन में रूस की आक्रामक कार्रवाई के आसार से संबंधित मामला है. रूस के सैनिक यूक्रेन की सीमाओं ओर बढ़ रहे हैं. हालात का जायजा लेने और आगे की कार्रवाई के लिये हम क्षेत्र में अपने साझेदारों और सहयोगियों से सलाह मशविरा करके उनके साथ काम कर रहे हैं.’ (एजेंसी इनपुट के साथ)







Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here