यह है वो Bus वाली पढ़ी-लिखी युवती, जिसकी Delhi Police इसलिए कर रही है तलाश

0
2


दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस मामले में अभी तक तीन युवतियों की गिरफ्तारी कर चुकी है.

युवती की तलाश में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) जगह-जगह छापेमारी भी कर रही है. लेकिन अभी तक दिल्ली स्टेट सर्विस सलेक्शन बोर्ड (DSSSB) के एक मामले में इस युवती की तलाश पूरी नहीं हुई है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 15, 2020, 5:43 AM IST

नई दिल्ली. बीते कुछ दिन से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच चार युवतियों की तलाश कर रही है. इसमे से तीन युवतियों को वो गिरफ्तार (Arrest) कर चुकी है. लेकिन अभी भी पढ़ने-लिखने में होशियार एक युवती अभी भी फरार चल रही है. इस युवती की तलाश में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) जगह-जगह छापेमारी भी कर रही है. लेकिन अभी तक दिल्ली स्टेट सर्विस सलेक्शन बोर्ड (DSSSB) के एक मामले में इस युवती की तलाश पूरी नहीं हुई है.

दूसरों की जगह परीक्षा देकर कराती है पास

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने डीएसएसएसबी में अपनी जगह दूसरी युवती से पेपर करवाने के आरोप में 3 युवतियो को गिरफ्तार किया है. इन तीनो का पेपर देने वाली मुख्य आरोपी युवती की तलाश की जा रही है. तीनो आरोपी प्राइमरी टीचर की पोस्ट में सेलेक्ट हो चुकी थीं. लेकिन उनकी पोल खुलने के बाद उनका सेलेक्शन कैंसिल किया गया और उनके डीएसएसएसबी के किसी भी एग्जाम में बैठने पर पाबंदी लगा दी गई है.
ये भी पढे़ं-दूसरे मजहब की लड़की से बात करने पर राहुल की हत्या मामले में दिल्ली पुलिस ने शुभम भारद्वाज को पकड़ापरीक्षा में पास कराने की जालसाजी का ऐसे हुआ खुलासा

डीएसएसएसबी के कंट्रोलर की शिकायत मिलने के बाद क्राइम ब्रांच ने ये कार्रवाई की है. साल 2018 के अक्टूबर और नवम्बर में अलग-अलग तरीखों में प्राइमरी टीचर का एग्जाम था. जिसमें इन आरोपियों ने अपनी जगह एक दूसरी युवती को पेपर देने भेजा था. डीएसएसएसबी द्वारा दिए गए एग्जाम में चयनित छात्रों को एडमिट कार्ड के सहारे कॉल किया जाता है. एडमिट कार्ड के दूसरे पेज में कैंडिडेट की फोटो के साथ सिलेक्शन करते समय अधिकारियों को एक ही महिला की 4 एडमिट कार्ड के दूसरे पेज में फोटो दिखी, जिससे खुलासा हुआ.

नौकरी के दस्तावेजों में लिखवाया गलत पता

इस फर्जीवाड़े का खुलासा होने पर एक युवती को तो 2018 में ही गिरफ्तार कर लिया गया था. लेकिन दो युवतियों के दस्तावेजों में गलत पता लिखा होने के चलते उनकी गिरफ्तारी नहीं हो पा रही थी. लेकिन इसी साल 12 अक्टूबर को उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया.

गिरफ्तार होने के बाद उन्होंने खुलासा किया कि 2018 में पंजाबी बाग इलाके में कोचिंग के लिए जाते समय बस में उनकी मुलाकात एक लड़की से हुई जिसने इन सभी का पेपर देने के लिए खुद हामी भरी थी. जिसके बाद वो सेलेक्ट हो गई. दिल्ली पुलिस अब उस लड़की की तलाश कर रही है जिसने इन सभी का पेपर करवाया था.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here