महिला ने की थी कंप्लेंट: जालंधर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की ब्लैक मार्केटिंग, DC ने पुलिस को FIR दर्ज करने को कहा

0
2


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जालंधर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस कमिश्नर को इसकी सीनियर अफसर से जांच कराने के लिए कहा गया है। – प्रतीकात्मक फोटो

गंभीर कोरोना मरीजों को लगने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की ब्लैक मार्केटिंग करने वाले व्यक्ति पर FIR दर्ज होगी। बुधवार को DC घनश्याम थोरी के आदेश पर सहायक कमिश्नर ने पुलिस कमिश्नर को शिकायत भेज दी है। व्हाट्सएप पर आई शिकायत की शुरुआती जांच के बाद यह आदेश दिए गए हैं। इस मामले में पुलिस को मामले की सीनियर अफसर से जांच करवाने को भी कहा गया है।

DC घनश्याम थोरी ने कहा कि रीमा गुगलानी की तरफ से शिकायत मिली थी कि लव मेहरा नाम के व्यक्ति ने रेमडेसिविर इंजेक्शन स्टॉक कर रखे हैं। शुरुआती जांच के बाद यह लगता है कि लव मेहरा इनकी ब्लैक मार्केटिंग करने का आदी है। इसलिए उसके खिलाफ एपिडेमिक एक्ट व डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत केस दर्ज किया जाए।

लव मेहरा की सफाई, सिर्फ मेडिकल एजेंसी के बारे में बताया था

इस बारे में लव मेहरा ने कहा कि रीमा गुगलानी ने रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए मदद मांगी थी। उसने 6 साल मेडिकल लाइन में काम किया है। इसलिए उसके मेडिकल वालों से संपर्क हैं। जब इंजेक्शन मांगा गया तो उसने कहा कि डॉक्टर की पर्ची पर जोनल ड्रग लाइसेंसिंग अथॉरिटी से बात करवाकर इंजेक्शन ले सकते हैं। इस बारे में रीमा गुगलानी ने एक फेसबुक ग्रुप में भी आरोप लगाए थे। उसने सीधे इंजेक्शन बेचने की बात नहीं की।

DC बोले-व्हाट्सएप पर दें ब्लैक मार्केटिंग की सूचना

DC घनश्याम थोरी ने लोगों से अपील की कि अगर किसी को भी ऑक्सीजन, इंजेक्शन आदि की ब्लैक मार्केटिंग का पता चलता है तो उन्हें मोबाइल नंबर 9888981881, 9501799068 पर व्हाट्सएप के जरिए प्रूफ समेत बताएं। अगर केस दर्ज हुआ तो वो 25 हजार का इनाम भी देंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here