बिहार-झारखंड का आतंक रहा नक्सली हिप्पिया गिरफ्तार, 20 से अधिक केस में थी तलाश

0
5


पटना. पटना में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पालीगंज से पुलिस की स्पेशल टीम ने कुख्यात नक्सली को गिरफ्तार कर लिया है. इस पर हत्या, लूट, रंगदारी वसूलने का दर्जनों मामले बिहार और झांरखण्ड के थानों में दर्ज हैं. पकड़ा गया नक्सली हिप्पिया उर्फ गणेश साव है जिसकी तलाश पुलिस महीनों से कर रही थी. वो पालीगंज में बंधन बैंक लूट कांड में भी नामजद था और पुलिस इसकी तलाश में थी.

हिपिया बिहार में रहकर झारखंड से रंगदारी वसूलने का काम करता था. रविवार की सुबह इस नक्सली को अपराध की योजना बनाते पुलिस की टीम ने पालीगंज के उदयपुर से गिरफ्तार किया. गिरफ्तार अपराधी जमहारु-इमामगंज पंचायत के इमामगंज का रहने वाला गणेश साव उर्फ गणेश प्रसाद उर्फ हिप्पिया दक्षिण बिहार और बिहार से लगने वाले इलाके के आतंक के रूप में जाना जाता है. झारखंड पुलिस के रिकॉर्ड में वह वांटेड अपराधी था. उसकी गिरफ्तारी को पुलिस बड़ी सफलता मान रही है.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गिरफ्तार गणेश के खिलाफ पटना के ख़िरीमोड और पालीगंज में बंधन बैंक में चोरी के अलावा अरवल जिले के विभिन्न थानों में हत्या, रंगदारी व राहजनी के 20 से अधिक मामले दर्ज हैं. दबिश जब बढ़ी तो वह पुलिस की नजरों से बचने के लिए पालीगंज थाने के उदयपुर गांव निवासी भगतिन किरण देवी के घर को अपना ठिकाना बना लिया और वहीं से आपराधिक कार्यों को अंजाम देने में जुटा रहा. फिलहाल वह बिहार से सटे झारखंड के इलाके में सक्रिय था.

नक्सलियों के लिए रंगदारी मांगने के मामले में काफी समय से झारखंड पुलिस को हिप्पिया उर्फ गणेश की तलाश थी. झारखंड पुलिस को अपराधी के पालीगंज इलाके में छिपे होने जानकारी थी. पालीगंज थाने की पुलिस से संपर्क साधने के बाद झारखंड पुलिस कार्रवाई में जुट गई. शनिवार की रात पुलिस को पुख्ता सूचना मिली कि गणेश साव उर्फ हिप्पिया उदयपुर गांव में तथाकथित रिश्तेदार किरण देवी के घर मे छिपकर रह रहा है.

एसएसपी पटना उपेंद्र शर्मा के निर्देश पर एएसपी मो. तनवीर अहमद व प्रशिक्षु डीएसपी राजीव कुमार सिंह के नेतृत्व में सब इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने पुलिस के जवानों व झारखंड पुलिस के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए उस घर को घेर लिया जिसमे गणेश रहता था. पुलिस के आने की भनक अपराधी को लग चुकी थी. वह फिर से पुलिस को चकमा देकर फरार होना ही चाह रहा था कि पुलिस के जवानों ने उसे दबोच लिया. प्रशिक्षु डीएसपी राजीव कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार गणेश साव पर पटना व अरवल जिले के अलावा झारखंड के कई थानों में बीस से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं. बकौल एएसपी पूछताछ के बाद गिरफ्तार गणेश को झारखंड पुलिस के हवाले कर दिया गया है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here