बिहार चुनाव: 9 नवंबर जेल से छूटेंगे लालू जी और 10 को बनेगी राजद की सरकार, पहली कैबिनेट में 10 लाख को देंगे रोजगार- तेजस्वी

0
3


भोजपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) ने कहा कि 9 नवंबर को लालू जी (Lalu Prasad Yadav) की तारीख है और 10 को रिजल्ट है. 9 नवंबर को ही मेरा जन्मदिन भी है. 9 नवंबर को लालू जी रिहा होंगे और 10 तारीख को गरीब की सरकार बनेगी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 17, 2020, 8:11 AM IST

रिपोर्ट- अभिनय प्रकाश,आरा
भोजपुर. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 पहले चरण चुनाव प्रचार के लिए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) संदेश सीट पर राजद प्रत्याशी विधायक अरुण यादव की पत्नी किरण देवी की जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे. इस दौरान तेजस्वी ने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के साथ ही केंद्र सरकार को भी अपने निशाने पर लिया. तेजस्वी ने कहा कि इस बार आर या पार की लड़ाई है. सूबे की सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी है. बिहार में 46.6 फीसदी बेरोजगारी देश में सबसे ज्यादा है. तेजस्वी ने कहा कि तेजस्वी ने कहा कि ठीक 10 तरीक को रिजल्ट आएगा, आप लोगों का आशीर्वाद मिलेगा. पहली कैबिनेट में 10 लाख नौजवानों को रोजगार देने का फैसला होागा. सभी विभागों में कई पदों की पद खाली हैं.

15 साल मौका मिला 60-60 घोटाले हुए. बिहार में कहीं भी कोई काम घूस के बिना नहीं होता है. बिहार अपराध के मामले में अव्वल नम्बर पर चला गया है. 15 साल से नीतीश जी डबल इंजन की सरकार है, 15 सालों में करीबी नही मिटाया, बेरोजगारी नहीं मिटाया, पलायन नहीं रोक पाए. एक सुई की कारखाना नहीं लगाए, शिक्षा और चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरीके से चौपट है. जो इंसान रोजगार नहीं दे सकता वो आने वाले 5 सालों में भी कुछ नहीं कर सकता.

तेजस्वी ने चुटकी लेते हुए चर्चित गाने को बोलते हुए का कहा कि बिहार में का बा… बिहार में बेरोजगारी बा, भुखमरी बा, लाचारी बा, बेबसी बा, ना उद्योग बा, ना कारखाना बा, बाढ़ बा, जलजमाव बा, चमकी बा यही तो है बिहार में. कोरोना महामारी में इनलोगों ने लॉकडाउन कर दिया,अब चुनाव हो रहा है. 40 लाख से ज्यादा मजदूर बिहार आना चाहते थे पर नीतीश चाचा ने कहा कि जो जहां है वो वहां रहे बिहार में आने नहीं दिया जाएगा. हजारों लोग 1500 किलोमीटर से ज्यादा चल कर बिहार आए.बिहार में बाढ़ आयी, कोरोना आया लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री 145 दिन घर से नहीं निकले. मजदूर रोते रह गए, गिड़गिड़ाते रह गए पर नीतीश जी नहीं सुने. मजबूर होकर मजदूर पैदल वापस आए. हमलोगों के हल्ला करने पर दिखाने के लिए नीतीश जी ने ट्रेन चलवाया. जो दुख के घड़ी में मजदूर घर आना चाह रहे थे तब हमारी सरकार ने मुंह फेर लिया. जो दुख की घड़ी में काम ना आए उस सरकार का क्या काम.

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश जी अब थक चुके हैं. अब उनसे बिहार नहीं चलने वाला.  मेरा DNA शुद्ध है गड़बड़ नहीं है. कड़े के बा, लड़े के बा, जीते के बा. हम नौजवान हैं नई सोच की सरकार चाहिए. आपको वैसी सरकार चाहिए जीता किसी के साथ, विवाह किया किसी और के साथ. तेजस्वी ने कहा कि हमारी सरकार आने पर नियोजित शिक्षकों को समान काम, समान वेतन देने का काम करेंगे.

भोजपुर के संदेश में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव.

तेजस्वी यादव ने कहा कि 9 नवंबर को लालू जी (Lalu Prasad Yadav) की तारीख है और 10 को रिजल्ट है. 9 नवंबर को ही मेरा जन्मदिन भी है. 9 नवंबर को लालू जी रिहा होंगे और 10 तारीख को गरीब की सरकार बनेगी. तेजस्वी ने लोगों से अपील की आपलोग एक मौका मुझे दीजिए उसके बाद देखिए बिहार में विकास कैसे होता है. क्योंकि मैं जुमले बाजी नही करता, मेरी राजनीतिक करियर की शुरुआत है मुझे बिहार के लोगों के लिए बहुत कुछ करना है. तेजस्वी ने कहा कि ऊपर देख कर निर्णय लीजिए, गरीब के राज्य को वापस लाइये,लालू जी के राज्य को वापस लाइये.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here