Advertisement

बिहार चुनाव 2020: पिता की हार का बदला लेने नहीं, लोगों की भलाई के लिए लड़ रहा चुनाव- लव सिन्हा


शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा पटना के बांकीपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं (फोटो: News 18)

अभिनेता से नेता बने लव सिन्हा (Luv Sinha) ने कहा कि वर्ष 2014 में सत्ता हासिल करने के बाद बीजेपी (BJP) बदल चुकी है. उन्होंने आरोप लगाया कि अब भगवा पार्टी के अंदर ज्यादा चर्चा नहीं होती है और अब सिर्फ ‘आदेश’ जारी किया जाता है

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 18, 2020, 5:52 PM IST

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में बांकीपुर सीट से कांग्रेस के टिकट पर मैदान में उतरे पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) के बेटे लव सिन्हा (Luv Sinha) ने बीजेपी के गढ़ में भगवा पार्टी को चुनौती देने की बात कही है. उन्होंने कहा कि चुनाव जीतकर मैं अपनी क्षमता साबित करूंगा और राजनीतिक पारी का आगाज करूंगा. उन्होंने कहा कि वो पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाली बांकीपुर विधानसभा सीट (Bankipur Assembly Seat) से चुनाव, 2019 के आम चुनाव में अपने पिता को मिली हार का बदला लेने के लिए नहीं लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि वो पटना के लोगों के कल्याण के लिए यह चुनाव लड़ रहे हैं.

अभिनेता से नेता बने लव ने कहा कि वर्ष 2014 में सत्ता हासिल करने के बाद बीजेपी बदल चुकी है. उन्होंने आरोप लगाया कि अब भगवा पार्टी के अंदर ज्यादा चर्चा नहीं होती है और अब सिर्फ ‘आदेश’ जारी किया जाता है. यह पूछे जाने पर कि बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) जैसी पार्टी की व्यापक उपस्थिति होने के बावजूद उन्होंने अपनी चुनावी पारी का आगाज करने के लिये कांग्रेस को ही क्यों चुना, लव ने कहा, ‘सिर्फ मैंने कांग्रेस को नहीं चुना है, बल्कि कांग्रेस ने भी मुझे चुना है.’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मेरे द्वारा किए गए काम पर गौर किया, यहां तक कि उस वक्त के काम भी जब मैंने अपने पिता के बीजेपी में रहने के दौरान किए थे. मैंने यहां वर्ष 2009 से अपने पिता के साथ काम किया है. मैं आश्वस्त हूं कि पार्टी (कांग्रेस) ने पिछले चुनावों में मेरे द्वारा किए गए काम पर गौर किया होगा और यही कारण है कि उन्होंने मुझे यह टिकट दिया.

https://twitter.com/PTI_News/status/1317740073174003712?ref_src=twsrc%5Etfw

‘परिवारवाद के चलते नहीं मिला टिकट’

बीजेपी के गढ़ में चुनाव लड़ने की बात स्वीकार करते हुए लव ने कहा, क्या इस कारण लड़ने से डरना चाहिए. मैं अपनी क्षमता साबित करने और अपनी क्षमता दुनिया को दिखाने के लिए लड़ाई लड़ने में यकीन रखता हूं. जीत या हार, कहीं से भी मेरे हाथ में नहीं है. जनता फैसला करेगी और हमें उनके फैसले को स्वीकार करना होगा.

उन्होंने कहा कि मौजूदा बीजेपी विधायक नितिन नवीन के खिलाफ यहां (बांकीपुर) सत्ता विरोधी लहर है. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी उम्मीदवार को यह सीट अपने पिता से विरासत में मिली थी, जो बांकीपुर से विधायक थे. वहीं अपने पिता के कारण टिकट मिलने की अटकलों को खारिज करते हुए लव ने कहा कि यदि यह परिवारवाद होता, तो उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ना चुना होता, विधानसभा चुनाव नहीं. (भाषा से इनपुट)





Source link

Advertisement
sabhijankari:
Advertisement