बर्थ-डे पार्टी कर रहे बिगड़ैलों ने बीच सड़क रोककर फोन मांगा, नहीं देने पर कर दी युवक की हत्या; चार गिरफ्तार

0
1


फरीदाबाद14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फरीदाबाद पुलिस की गिरफ्त में हत्या के चार आरोपी, जो बीते दिनों बीच सड़क कार रोककर हुल्लड़बाजी कर रहे थे। एक युवक को रोकर पीट-पीटकर अधमरा कर भागे थे।

  • 8 अक्टूबर की रात उत्तम नगर एरिया में घटी थी घटना, सेक्टर-18 से दोस्त के साथ लौट रहा था नाचौली का अनीष
  • दोस्त ने भागकर जान बचाई तो अधमरे अनीष को पुलिस लाई थी बीके अस्पताल, 4 दिन बाद दिल्ली के सफदरजंग में मौत
  • परिजनों का कहना-आरोपियों ने अनीष को जबरन पिलाई शराब और बेरहमी से पीटा, पुलिस का दावा-एक को जानता था अनीष

फरीदाबाद पुलिस ने हत्या के एक मामले में मंगलवार को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि बीते दिनों बर्थ-डे पार्टी के नाम पर बीच सड़क हंगामा कर रहे इन लोगों ने कहीं से घर की ओर लौट रहे दो युवकों रोका। उनमें से एक से फोन मांगा और नहीं देने पर जबरन शराब पिलाई। फिर इतनी बुरी तरह से पीटा कि कई दिन अस्पताल में रहने के बाद उसकी मौत हो गई।

मामला बीती 8 अक्टूबर का है। मिली जानकारी के अनुसार पास के गांव नाचौली का 20 वर्षीय अनीष भाटी शाम को किसी काम से अपने दोस्त संदीप के साथ मोटरसाइकल पर सेक्टर-18 गया था। वापस लौटते वक्त उत्तम नगर के पास सड़क पर ईको गाड़ी खड़ी करके 5-6 युवक शराब पीते हुए किसी साथी का बर्थ-डे पार्टी मना रहे थे।

गांव नाचौली के 20 वर्षीय अनीष की फाइल फोटो, जिसकी मारपीट के 4 दिन बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई।

गांव नाचौली के 20 वर्षीय अनीष की फाइल फोटो, जिसकी मारपीट के 4 दिन बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई।

अनीष की मां सुदेश की मानें तो हुल्लड़बाजी कर रहे बदमाशों ने अनीष को जबरन रोककर उससे फोन कॉल करने की कहकर मोबाइल मांगा। अनीष ने मोबाइल फोन देने से इन्कार कर दिया तो बदमाशों ने ईको कार में रखे डंडे और मैटल रॉड निकालकर उस पर हमला कर दिया। उसके साथी संदीप ने तो बड़ी मुश्किल से भागकर अपनी जान बचाई, लेकिन हमलावरों ने अनीष के दोनों हाथ पकड़कर उसे जबरन शराब पिलाई और डंडों से पीटकर अधमरा कर दिया। बेहोश होकर सड़क पर गिरे अनीष को छोड़कर सभी हमलावर कार में बैठकर फरार हो गए।

घटना की सूचना पर थाना भूपानी पुलिस मौके पर पहुंची और अनीष को बीके अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया। चार दिन बाद 11 अक्टूबर की रात अनीष की मौत हो गई।

पुलिस का दावा-आरोपी मुकेश को जानता था अनीष, उसे देखकर ही रुका
एसीपी आदर्शदीप सिंह ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर भूपानी पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल चार आरोपियों अश्वनी, मनीष, अशोक और मुकेश को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी घटना वाली रात अशोक का बर्थ-डे मना रहे थे। इनमें से मुकेश उर्फ काले नामक एक आरोपी को मृतक अनीष जानता भी था, इसलिए वह सड़क पर रुका था। फोन भी मुकेश ने ही मांगा था। मना करने पर दोनों में कहासुनी हो गई और मुकेश के अन्य साथियों ने अनीष पर हमला कर दिया। फिलहाल पुलिस हत्या के आरोपियों की क्रिमिनल हिस्ट्री खंगाल रही है।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here