बगैर सहमति गर्भवती महिला का ऑपरेशन करना डॉक्टर को पड़ा भारी, खानी पड़ी जेल की हवा

0
2


डिहरी का अस्पताल जहां का डॉक्टर गिरफ्तार हुआ है

मामला बिहार के डिहरी से जुड़ा है. औरंगाबाद के रहने वाले संजीत कुमार की 22 वर्षीय पत्नी अमृता कुमारी गर्भवती थी जिसके इलाज के दौरान ही डॉक्टर ने इस घटना को अंजाम दिया और परिजनों को लंबा-चौड़ा बिल थमा दिया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 13, 2020, 10:17 AM IST

रोहतास. बिहार में एक डॉक्टर को बिना परिजनों के सहमति के ही प्रसव पीड़ित महिला का सर्जरी करना खासा महंगा पड़ गया. परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने डॉक्टर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. गिरफ्तारी का ये मामला रोहतास जिला के डेहरी का है जहां डॉ. चंदा हॉस्पिटल नामक निजी क्लीनिक के संचालक डॉ मनोज कुमार सिन्हा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

बताया जाता है कि औरंगाबाद के रहने वाले संजीत कुमार की 22 वर्षीय पत्नी अमृता कुमारी गर्भवती थी. उसे डिलीवरी के लिए डिहरी के बस स्टैंड के पास डॉ. चंदा हॉस्पिटल में लाया गया, जहां सामान्य प्रसव की बात कही गई लेकिन थोड़ी देर के बाद ही बताया गया कि आनन-फानन में ऑपरेशन करना पड़ा जिसका शुल्क 20 हज़ार रुपये देना होगा.

इसी बात को लेकर विवाद बढ़ गया और परिजन अपनी गुहार को लेकर सीधे पुलिस के पास पहुंच गए. मामले की सूचना जिला के सिविल सर्जन को भी दी गई. मरीज के परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी चिकित्सक को गिरफ्तार कर लिया है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की पड़ताल में जुटी है.

इनपुट- अजीत कुमार





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here