पेक की सीनेट 21 को, एग्जाम के साथ ही इलेक्टिव सब्जेक्ट बढ़ाने पर भी होगा फैसला

0
2


  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • PEC’s Senate On 21, Along With The Exam, Decision Will Be Taken To Increase Elective Subject Along With Exam.

चंडीगढ़20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी (पेक) की सीनेट मीटिंग 21अक्टूबर को होने जा रही है जिसमें ऑन गोइंग सिमेस्टर के एग्जाम के साथ-साथ फर्स्ट ईयर स्टूडेंट्स को इलेक्टिव सब्जेक्ट बढ़ाए जाने का फैसला भी किया जाएगा।

  • फिलहाल एक कमेटी ने दी है अपनी रिपोर्ट,इसी सप्ताह बाकी कमेटियां सब्मिट करेंगी रिपोर्ट,पहले फर्स्ट ईयर का होगा फैसला

पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी (पेक) की सीनेट मीटिंग 21अक्टूबर को होने जा रही है जिसमें ऑन गोइंग सिमेस्टर के एग्जाम के साथ-साथ फर्स्ट ईयर स्टूडेंट्स को इलेक्टिव सब्जेक्ट बढ़ाए जाने का फैसला भी किया जाएगा। फर्स्ट ईयर स्टूडेंट्स के सिलेबस में बदलाव का फैसला दिसंबर में हुआ था और अब सारे बदलाव को सीनेट मेंबरों के सामने रखा जाएगा।इंस्टिट्यूट ने इसके लिए नोटिस जारी कर दिया है।

पिछली सीनेट के दौरान कुछ कमेटियों का गठन किया गया था जिन्हें सिलेबस को रिवाइज करने के लिए जिम्मेदारी दी गई थी। सूत्रों के अनुसार इसमें एक कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सब्मिट कर दी है और बाकी सभी कमेटियां इसी सप्ताह अपनी रिपोर्ट सब्मिट कर देंगी। इन रिपोर्ट को सीनेट में रखा जाएगा। इसमें प्रस्ताव रखा जा रहा है कि 10 को कंपलसरी करने की बजाय स्टूडेंट्स को तीन कोशिश में कम से कम 6 चॉइस दी जाए।

आगामी बैच से इस नए चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम को ज्यादा फ्लैक्सिबल तरीके से लागू करने की कोशिश की जाएगी। 2020- 21 का यह बैच दिसंबर से शुरू हो रहा है। इसमें डिपार्टमेंट को 40 क्रेडिट अपने कंपलसरी सब्जेक्ट के देने होंगे। हालांकि वह चाहे तो 40 से कम भी कंपलसरी क्रेडिट कर सकते हैं। एमेनिटीज और सोशल साइंसेस के क्रेडिट 12 हैं जिनमें से दो क्रेडिट कंपलसरी किए जा सकते हैं। कम्युनिकेशन कम हिस्ट्री और साइकोलॉजी जैसे विषय सभी स्टूडेंट्स को इसके तहत पढ़ाए जाते हैं।

सीनेट में स्टूडेंट काउंसिल की ओर से दिए गए प्रस्ताव पर भी विचार किया जाएगा। कुछ दिन पहले पेक डायरेक्टर ने स्टूडेंट के साथ मीटिंग की थी और तय किया गया था कि ऑन गोइंग सिमेस्टर के स्टूडेंट्स को भी अब प्रमोट कर दिया जाएगा और उनके एग्जाम नहीं होंगे। हालांकि यह पास या फेल का सर्टिफिकेट देने की सुविधा सिर्फ पिछले समय तक के लिए मिलेगी और अब शुरू हुए सिमेस्टर की परीक्षाएं ऑफ लाइन कराई जाएंगी।

इसके लिए स्टूडेंट्स को दो बार मौका दिया जाएगा। स्टूडेंट चाह रहे थे कि पंजाब यूनिवर्सिटी की तर्ज पर ऑनलाइन परीक्षाएं ले ली जाएं लेकिन क्योंकि पेक के 50 पीजी स्टूडेंट्स शहर से ही हैं और इस समय कोविड-19 कंट्रोल में हैं इसलिए प्रैक्टिकल लैब वर्क और एग्जाम ऑफ लाइन ही कराने का प्रस्ताव रखा गया था। पहले यह प्रस्ताव था कि ऑन गोइंग सिमेस्टर की एग्जाम नवंबर या दिसंबर में लिए जाएंगे लेकिन अब इस को खारिज कर दिया गया है। जुलाई से शुरू हुए सिमेस्टर के एग्जाम दीवाली के बाद कराए जाने का प्रस्ताव है।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here