पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था: चंडीगढ़ कोठी कब्जा करने के मामले में आरोपी अरविंद सिंगला ने आज जिला अदालत में सरेंडर किया, 4 दिन का पुलिस रिमांड मिला

0
2


  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Arvind Singla, Accused In The Chandigarh Kothi Capture Case, Surrendered In The District Court Today, Got 4 Days Police Remand

चंडीगढ़8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

शहर के कुछ लोगों ने मिलकर एक कोठी पर कब्जा करने का प्रयास किया था। आज इस मामले के एक आरोपी ने अदालत में सरेंडर कर दिया।

  • 2 मार्च से फरार चल रहा था, पुलिस ने कई स्थानों पर पकड़ने के लिए दबिश दी थी

शहर के सेक्टर-37 में एक कोठी पर कब्जा करने के मामले के आरोपी शराब कारोबारी अरविंद सिंगला ने आज दोपहर जिला अदालत में सरेंडर कर दिया। इससे पहले पुलिस की ओर से उसे पकड़ने के लिए पंजाब, हरियाणा सहित कई इलाकों में रेड की गई थी। कोठी प्रकरण के बाद आरोपी अरविंद सिंगला फरार चल रहा था। पुलिस ने इस आरोपी पर 50 हजार रुपए का इनाम रखा था।

आज अदालत की ओर से आरोपी का चार दिन का पुलिस रिमांड दे दिया गया है। पुलिस अब इस आरोपी से कोठी प्रकरण के बारे में पूछताछ करेगी। पुलिस काे आज दोपहर जब यह सूचना मिली की अरविंद सिंगला ने सेक्टर-43 अदालत में सरेंडर कर दिया है तो उसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और उसके रिमांड को लेकर कार्रवाई शुरू की।

एक दिन पहले नकली राहुल मेहता ने सरेंडर किया था

इससे पहले कोठी प्रकरण के एक आरोपी गुरप्रीत सिंह जिसने नकली राहुल मेहता बन कर कोठी की सेल डीड करवाई थी उसने भी गुरुवार को अदालत में सरेंडर कर दिया था। कोठी प्रकरण के में FIR दर्ज होने के बाद गुरप्रीत दिल्ली, महाराष्ट्र व हिमाचल सहित कई इलाकों में छुपता रहा था। पुलिस को गुरप्रीत का तीन दिन का पुलिस रिमांड मिला है।

लुकआउट नोटिस जारी किया था

गुरप्रीत का पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी किया गया था और उस पर भी 50 हजार रुपए का इनाम रखा गया था। गुरप्रीत सिंह मोहाली इंडस्ट्री एरिया फेज-9 का निवासी है, अब पुलिस उससे कोठी मामले को लेकर जांच कर रही है। एडवोकेट हिमांशु शर्मा के अनुसार उनके क्लाइंट गुरप्रीत सिंह अपनी मां के साथ गुरुवार को अदालत में आकर सरेंडर किया था। शर्मा ने कोर्ट को बताया कि सेल डीड की फाइल में न तो उनके क्लाइंट के कहीं साइन है और न उसका कोई रोल है। इस पर पुलिस ने दलील दी कि इन केस में आरोपी की फोटो फाइल पर लगी है। इसने नकली राहुल मेहता बनकर कोठी की सेल डीड करवाई है। इस पर कोर्ट ने पुलिस को तीन दिन का रिमांड दे दिया।

मामला क्या है।

शहर की सेक्टर-37 की एक कोठी को उसके मालिक से हड़पने के लिए कुछ लोगों ने योजना बनाई थी जिसमें कोठी मालिक को चंडीगढ़ से बाहर कई स्थानों पर रखा गया था। इस मामले में सबसे पहले पुलिस ने मनीष गुप्ता को गिरफ्तार किया था। उसके बाद पुलिस ने संजीव महाजन, डीएसपी रामगोपाल के भाई सतपाल डागर और फिर सेक्टर-39 थाने के पूर्व एसएचओ इंस्पेक्टर राजदीप सिंह को गिरफ्तार किया था। कोठी प्रकरण में अभी सिंगला, शेखर, दलजीत सिंह, सौरभ गुप्ता, खलेंद्र सिंह कादियान और अशोक अरोड़ा फरार चल रहे है। इस मामले का एक अन्य आरोपी बाउंसर सुरजीत सिंह की दो युवकों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here