पीजीआई की ओपीडी के बाहर 200 मीटर लंबी लाइन में लगे सैंकड़ों मरीज,कई राज्यों से इलाज के लिए पहुंचे

0
2


चंडीगढ़36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पीजीआई में आज ओपीडी खुलने पर कई राज्यों से मरीज पहुंचे। लंबी लाइन में सुबह से लगे रहे मरीज। फोटो लखवंत सिंह

  • पीजीआई डायरेक्टर अपनी टीम सहित मरीजों को देखने के लिए पहुंचे
  • ओपीडी खुलने को लेकर अधिकतर पुराने मरीज ही आए, जिन्हें कॉल कर बुलाया गया

कोरोना संक्रमण लॉकडाउन के दौरान बंद की गई पीजीआई की ओपीडी आज खुली तो सैंकड़ों की संख्या में मरीज दूर-दराज के इलाकों से अपना इलाज करवाने के लिए पहुंचे।ओपीडी के बाहर 200 मीटर से ज्यादा दूरी तक लंबी लाइन सुबह से लगी हुई थी जो बाद में मरीजों के अंदर जाने से कम हो गई। सुबह 10 बजे तक करीब 400 मरीज इलाज के लिए पहुंच चुके थे।

कई राज्यों से पहुंचे मरीज

कई राज्यों से पहुंचे मरीज

आज जो मरीज ओपीडी में इलाज के लिए आए है उन्होंने यहां आने के पहले रेजिस्ट्रेशन करवाई थी उसके बाद ही उन्हें कॉल करके बुलाया गया था। आज ओपीडी में पहुंचने वाले मरीजों में कई गंभीर रोग से ग्रसित थे तो कई लोगों का पहले से ही इलाज चल रहा था। ओपीडी के मेनगेट पर काफी संख्या में मरीजों के आने के कारण बार-बार सुरक्षाकर्मियों को उन्हें दूरी बनाने और मास्क पहनने के लिए कहा जा रहा था।

पीजीआई डायरेक्टर पहुंचे

आज सुबह से ही मरीजों की लंबी लाइन ओपीडी के सामने लग गई। पीजीआई सुरक्षाकर्मियों की ओर से जिन मरीजों को ऑन कॉल बुलाया गया था उन्हें एक-एक करके अंदर जाने दिया गया। इस दौरान पीजीआई के डायरेक्टर डॉ. जगतराम भी ओपीडी में पहुंचे। उन्होंने इस मौके कहा कि अभी मरीज आ रहे है उन्हें जांच के बाद अंदर जाने दिया जा रहा है। पहले मरीजों की बिमारियों के बारे में जानकारी ली जा रही है उसके बाद उन्हें बेहतर इलाज देने के लिए काम किया जा रहा है।डायरेक्टर ने अपनी टीम के साथ ओपीडी में पहुंचे मरीजों को देखा और डॉक्टरों को जरूरी हिदायतें दी।

कई राज्यों से आए मरीज

जम्मू-कश्मीर से कान का इलाज करवाने आए मरीज के परिजन ने बताया कि उनके भाई के कान का इलाज पिछले दो सालों से यहां करवाया जा रहा है। इसी कारण वे आज यहां आए है। उन्होंने बताया कि वे रात को ही आ गए थे और आज सुबह से लाइन में लग कर अपनी बारी से अंदर गए।

हिमाचल के नाहन से अपनी बिमारी का इलाज करवाने एक व्यक्ति ने बताया कि वे अपनी बिमारी का इलाज करवाने आए है लेकिन रेजिस्ट्रेशन करवाने का पता नहीं था। अब यहां रूक कर इंतजार कर रहे है कि उनका इलाज किसी तरह से हो जाए। हिमाचल के सिरमौर से अपने बेटे को लेकर पहुंचे एक व्यक्ति ने बताया कि पिछले काफी समय से इलाज चल रहा है।

हरियाणा के अंबाला से भी अपना इलाज करवाने पहुंचे मरीजों ने बताया कि वे सुबह से ही लाइन में लगे हुए थे और अब ओपीडी में जा रहे है।

राजस्थान के हनुमानगढ़ से कैंसर का इलाज करवाने के लिए पहुंचे मरीज के भाई ने बताया कि वे आज सुबह यहां पहुंचे और लाइन में लगे हुए है। उन्होंने कहा कि उनके भाई का इलाज काफी समय पहले से चल रहा है।

पीजीआई के एडवांस कार्डियक सेंटर, एडवांस पीडियाट्रिक सेंटर, एडवांस आई केयर सेंटर, ओरल हेल्थ साइंस सेंटर, नशामुक्ति केंद्र में रोज 50 मरीज देखे जाएंगे।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here