पार्टी के प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा पर पंजाब में हुए हमले का विरोध, धरने पर बैठे कार्यकर्ता, नारेबाजी

0
1


चंडीगढ़एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ भाजपा ने सेक्टर-33 स्थित अपने दफ्तर कमलम पर प्रोटेस्ट किया और फिर सेक्टर-37 स्थित पंजाब प्रदेश कांग्रेस के दफ्तर की ओर निकले, लेकिन पुलिस ने उन्हें बीच में ही रोक दिया।(फोटो-अश्विनी राणा)

  • चंडीगढ़ प्रदेश भाजपाध्यक्ष अरुण सूद ने कहा- कांग्रेस फ्रस्ट्रेशन में हमले करा रही है

भाजपा के प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा पर जालंधर से पठानकोट जाते समय सोमवार रात 8 बजे हमला कर दिया गया था। हमला होशियारपुर के चौलांग टोल प्लाजा पर हुआ था। घटना के विरोध में मंगलवार को चंडीगढ़ भाजपा ने पहले ताे अपने पार्टी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया, फिर कार्यकर्ता कांग्रेस कार्यालय की ओर बढ़े। लेकिन, पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इस पर कार्यकर्ता सड़क पर ही धरना देने लगे।

चंडीगढ़ प्रदेश भाजपाध्यक्ष अरुण सूद ने कहा कि कांग्रेस फ्रस्ट्रेट होकर हमें डरा-धमकाकर रोकना चाहती है और इसलिए ही ये सब कर रही है, जो कि बिलकुल भी मंजूर नहीं है।

किसानों ने घेरा था अश्विनी का काफिला

सोमवार को अश्विनी शर्मा पर पंजाब में हुुए हमले से पहले किसानों ने उनके काफिले को घेर लिया था। रिपोर्ट अश्वनी ने दसूहा थाने में जाकर लिखवाई थी। हमले से पहले जालंधर के मकसूदां में मीटिंग करने पहुंचे अश्वनी शर्मा को करीब 100 किसानों ने सुबह 11 से शाम 6 बजे तक 7 घंटे बंधक बनाए रखा। काफी मशक्कत के बाद पुलिस उन्हें सुरक्षित निकाल ले गई थी। अश्वनी शर्मा ने कहा था कि हमला पंजाब सरकार के इशारे पर कराया गया है।

वहीं, चौलांग टोल पर 8 दिन से धरना लगाए बैठे दोआबा किसान कमेटी के पंजाब प्रधान जंगवीर सिंह चौहान का कहना था कि- भाजपाइयों ने किसानों को ललकारा था, हमला किसानों ने नहीं बल्कि भाजपा वालों का ही काम है। सीएम अमरिंदर सिंह व भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने हमले की निंदा की थी।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here