नगर निगम चुनाव: नेता बने देवता तो टिकट के दावेदार बने भक्त, Video Viral

0
2


जयपुर में भक्तों (टिकट के दावेदारों) के आगे हाथ जोड़ते परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास.

Municipal Corporation elections: चुनाव में टिकट पाने के लिये दावेदार अपने नेताओं को देवता बनाने से भी नहीं चूक रहे हैं. टिकट पाने के लिये वे तमाम जुगाड़ लगा रहे हैं. यहां तक कि वे गाना गाकर नेता की तुलना भगवान से कर रहे हैं.

जयपुर. निकाय चुनाव (Municipal Corporation elections) के इस मौसम में टिकट पाने की चाहत रखने वालों के लिए इन दिनों नेता ही देवता (God) हैं बने हुये हैं. टिकट रूपी प्रसाद और आशीर्वाद पाने के लिए इस देवता को रिझाने में भक्त (दावेदार) कोई कसर भी नहीं छोड़ रहे हैं. सुनने में भले ही आपको ये बातें अजीब लगे, लेकिन यह सौ फीसदी सच है. राजधानी जयपुर (Jaipur) में इन दिनों कुछ ऐसा ही रहा है.

Rajasthan: कांग्रेस MLA बाबूलाल बैरवा ने गहलोत सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, PCC चीफ ने दी सफाई

‘तू ही मेरा मंदिर, तू ही मेरी पूजा’
बुधवार को सुबह परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के निवास पर बडी संख्या में टिकट लेने वालों की भीड़ उमड़ी. इस दौरान टिकट के दावेदार अपने बायोडेटा समेत कई दूसरे दस्तावेज लेकर पहुंचे. मंत्री खाचरियावास को खुश करने के लिए किसी ने पैर छूए तो किसी ने उनके द्वारा करवाए गए विकास कार्यों का बखान किया. कुछ ने जमकर नारेबाजी भी की. लेकिन इस भीड़ में कुछ अनोखे दावेदार भी दिखे. उन्होंने खुद को भीड़ से अलग दिखाने के लिये मंत्री खाचरियावास के सामने गाना गा डाला. पुरानी फिल्म का गाना गाते इन दावेदारों ने मंत्री खाचरियावास कहा कि ” तू ही मेरा मंदिर, तू ही मेरी पूजा, तुम ही देवता हो“. उसके बाद मंत्री खाचरियावास ने भी उन लोगों के सामने हाथ जोड़ लिए. अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.प्राइवेट स्कूल फीस प्रकरण: सरकार बताए कोरोना काल की कितनी होनी चाहिए फीस- हाई कोर्ट

जयपुर, जोधपुर और कोटा में होने हैं निकाय चुनाव
अक्टूबर माह के अंत और नवंबर माह की शुरुआत में दो फेज में जयपुर, जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगमों में चुनाव होने हैं. ये चुनाव 29 अक्टूबर और 1 नवंबर को दो चरणो में होंगे. इन निकाय चुनावों में भाग्य आजमाने की चाहत रखने वालों की कोई कमी नही हैं. चुनाव लड़ने की चाहत रखने वाले अधिकांश लोग प्रमुख राजनैतिक दल यानि बीजेपी और कांग्रेस से टिकट लेकर ही चुनाव लड़ना चाहते हैं. लिहाजा वे लगातार नेताओं के सामने अपनी दावेदारी जता रहे हैं. इसी दावेदारी को मजबूत करने के लिए वे अपने इलाके के विधायकों और वरिष्ठ नेताओं के यहां लगातार हाजिरी लगातार लगा रहे हैं. ताकि नेताजी खुश हो जायें और प्रसाद तथा आशिर्वाद के रूप में टिकट भक्त की झोली में डाल दे.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here