तेजस्वी ने अपने सरकारी आवास को बनाया कोविड केयर सेंटर, कहा- इसे स्वीकार करे सरकार

0
6


सरकारी आवास में बना कोविड केयर सेंटर.

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के खिलाफ चल रही लड़ाई के बीच बिहार में विपक्षी दल आरजेडी (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने सरकारी आवास में कोविड केयर सेंटर बनाया है.

पटना. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के खिलाफ चल रही लड़ाई के बीच बिहार में विपक्षी दल आरजेडी (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने सरकारी आवास में कोविड केयर सेंटर बनाया है. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपने निजी कोष से पटना में 1, पोलो रोड स्थित सरकारी आवास पर कोविड केयर सेंटर बनाया है. यहां तमाम आवश्यक मेडिकल उपकरणों तथा खाने-पीने की नि:शुल्क सुविधाओं का दावा किया जा रहा है. आरजेडी का दावा है कि इस कोविड सेंटर में मेडिकल बेड, ऑक्सीजन समेत तमाम जरूरी दवाइयों का इंतजाम किया गया है. तेजस्वी यादव ने एक वीडियो जारी कर कहा है कि नियमानुसार राजद कोविड केयर सेंटर की स्थापना की गई है. राज्य सरकार से आग्रह है कि इसे स्वीकर किया जाए. यहां पर नियमानुसार लोगों को लाभ दिलवाने का काम सरकार करे. तेजस्वी ने कहा कि सरकारी आवास में इसका इंतजाम किया गया है. इसमें सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं. अब सरकार को इसका संचालन करना चाहिए. इसको लेकर पत्राचार भी किया गया है. बता दें कि इसके पहले तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि राज्य सरकार उन्हें और सभी विधायकों को इस बात की अनुमति दे कि बिना किसी रोकटोक के कोविड सेंटर और बाक़ी जगहों का दौरा कर सकें. राहत पहुंचाने मांगी थी इजाजत बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर माँग की थी कि राज्य के सभी विधायक सहित मुझे भी राज्य के किसी भी अस्पताल, पीएचसी, कोविड केयर सेंटर के अन्दर जाकर मरीजों और उनके परिजनों से मिलने और राहत पहुँचाने की इजाज़त हो. इसके अलावा तेजस्वी की तरफ़ से कोविड केयर सेंटर खोलने और सामुदायिक किचन चलाने की भी इजाज़त माँगी गई है. मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में नेता प्रतिपक्ष ने बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था, कोरोना मैनज्मेंट, बचाव और राहत कार्यों को सुधारने की ज़रूरत बताई है.व्यवस्था पर उठाए थे सवाल इसके पहले तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर राज्य सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाया था. तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा है कि नीतीश सरकार ने 207 वेंटिलेटर की पैकिंग ही नहीं खुलने दी. वैक्सीन तो छोड़िए बिहार में एक वर्ष बाद आवश्यक जाँच किट भी नहीं है. सरकार की कुव्यवस्था, कुप्रबंधन, लापरवाही, अहंकार, भ्रष्टाचार और जमाखोरी के कारण तथा दवा, ऑक्सिजन, वेंटिलेटर के अभाव में हज़ारों लोग काल के गाल में समा गए. बता दें कि विपक्ष लगातार बिहार में सरकार को घेरने में लगा है. अब अपने सरकारी आवास को कोविड केयर सेंटर में तब्दील कर  उसको शुरू करने की इजाज़त मांग कर तेजस्वी ने सरकार पर दबाव बढ़ा दिया है.







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here