डॉक्टर की सलाह: कोरोना से रिकवर लाेगों को भी चपेट में ले सकता है डेल्टा प्लस वैरिएंट, इसलिए रहें सावधान

0
6


फरीदाबाद40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डाॅक्टरों का कहना है कि डेल्टा प्लस वैरिएंट कोराेना से रिकवर हो चुके लाेगों को भी अपनी चपेट में ले सकता है।

फरीदाबाद के ईएसआई मेडिकल कॉलेज से डिटेक्ट हुए डेल्टा प्लस वैरिएंट ने स्वास्थ्य विभाग की बेचैनी बढ़ा दी है। क्योंकि दूसरी लहर के वायरस डेल्टा से भी ये वायरस खतरनाक है। ऐसे में लोगों को बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है। जरा भी लापरवाही लोगों को पर भारी पड़ सकती है। डाॅक्टरों का कहना है कि डेल्टा प्लस वैरिएंट कोराेना से रिकवर हो चुके लाेगों को भी अपनी चपेट में ले सकता है।

जीनोम सीक्वेंसिंग प्रोजेक्ट पर रिसर्च कर रहे ईएसआई मेडिकल कॉलेज के रजिस्टार डॉ. एके पांडेय ने दैनिक भास्कर को बताया कि डेल्टा प्लस वैरिएंट डेल्टा का उन्नत स्वरूप है। अभी तक की रिसर्च में ये बात सामने आयी है कि ये वायरस कोरोना से रिकवर हो चुके लोगों को भी फिर से अपनी चपेट में ले सकता है। यहां तक कि जिन लोगों ने वैक्शीनेशन कराया हुआ है उन्हें भी शिकार बना सकता है। लेकिन इसमें राहत की बात ये है कि वैक्सीनेशन होने के बाद व्यक्ति गंभीर श्रेणी में नहीं पहुंचेगा। वैक्सीन उसे प्रोटेक्ट करेगी।

जो भी वैक्सीन मिले उसे तुरंत लगवाएं

डॉ. एके पांडेय ने डेल्टा प्लस वैरिएंट पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इस वायरस के मिलने से हम सभी को पहले की अपेक्षा ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जिन लोगों ने अभी तक वैक्सीनेशन नहीं कराया है वह तुरंत वैक्सीनेशन कराएं। जो भी वैक्सीन उपलब्ध हो उसे तुरंत लगवाएं। क्योंकि इस वायरस से लड़ने का एक मात्र हथियार वैक्सीन ही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here