जुआ में पत्नी को हारा तो जुआरियों ने किया गैंगरेप, पीड़िता के विरोध पर पति ने ही तेजाब से झुलसाया

0
1


बिहार के भागलपुर में गैंगरेप(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Gang Rape In Bhagalpur: गैंगरेप और एसिड अटैक की ये घटना बिहार के भागलपुर जिले की है, लगभग डेढ महीने बाद इस घटना का खुलासा हुआ तो पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पति को हिरासत में ले लिया है और पूरे मामले की जांच कर रही है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 14, 2020, 7:14 AM IST

भागलपुर.  बिहार के भागलपुर (Bhagalpur) में मानवता और पति-पत्नी के रिश्ते को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है. घटना जिले के मोजाहिदपुर थाना क्षेत्र के हसनगंज मोहल्ले की है जहां अपनी पत्नी को जुआ में हारने के बाद जुआरियों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) की घटना को अंजाम दिया गया और जब अपने साथ हुई ज्यादती के खिलाफ पीड़िता ने आवाज बुलंद करने चाहा तो वहशी पति ने अपनी पत्नी के शरीर पर ही तेजाब डालकर (Acid Attack) उसे पूरी तरह झुलसा दिया.

घटना 2 नवम्बर की है और इस बीच पीड़िता का इलाज जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चला. महाभारत की कथा में तो पांडव द्वारा जुआ में द्रोपदी को हारने के बाद उसे बचाने के लिए कृष्ण पहुंच गये थे लेकिन भागलपुर की विवाहिता को बचाने के लिए कोई सामने नहीं आया और फिर दरिंदगी की हद को पार कर देने वाले पति के चंगुल से निकलकर किसी तरह मायके जिच्छो पहुंची और घरवालों के साथ सामाजिक कार्यकर्ता दीपक सिंह से न्याय की गुहार लगाई, जिसके बाद सामाजिक कार्यकर्ता ने सीनियर एसपी आशीष भारती से बात की और फिर एसएसपी के निर्देश पर मोजाहिदपुर थाना में एफआईआर दर्ज करवाया.

मोजाहिदपुर थाना में पीड़िता की ओर से दिये गये आवेदन में बताया गया कि उसकी शादी मोजाहिदपुर के हसनगंज से दस साल पहले शादी हुई थी और संतान नहीं होने के कारण लगातार बांझपन होने का ताना दिया जाता रहा. पति शराबी और जुआरी था और इसी कड़ी में जुआ में उन्हें ही शराब के नशे में दाव पर लगा दिया और फिर जुआ में हार गये, जिसके बाद पांच छह लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया, जिसको लेकर लगातार पति से लड़ाई होने पर उन्होंने बांझपन की बात करते हुए शरीर पर तेजाब फेंक उसे झुलसा दिया.

इस दौरान किसी से कुछ बताने से साफ इंकार कराते हुए लगातार धमकी दे रहा था. अपने साथ हुए हैवानियत का विरोध पर पति द्वारा पिटाई का भी आरोप लगाई. आधा शरीर पूरी तरीके से जल जाने पर इलाज के लिए जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसे पति ने धमकाया कि वह पुलिस को कुछ भी नहीं बताएं डर से पीड़ित विवाहिता ने वहां भी कुछ नहीं बताया.पीड़िता ने अपने आवेदन में लिखा है कि शनिवार को किसी तरीके से पति के चंगुल से निकलकर अपने मायके जिच्छो पहुंच गई और वहां सामाजिक कार्यकर्ता दीपक सिंह को पूरी घटना की जानकारी दी, जिसके बाद सामाजिक कार्यकर्ता ने वरीय पुलिस अधीक्षक को घटना की जानकारी दी और फिर पीड़िता ने मोजाहिदपुर थाना में पति और अन्य लोगों के खिलाफ आवेदन दिया है जिसके बाद पुलिस जांच में जुट गई है.

इधर मामले के संज्ञान में आने के बाद आरोपी पति को पुलिस ने देर शाम हिरासत में ले लिया है. सीनियर एसपी ने मामले पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की बात कही और कहा कि स्पीडी ट्रायल के माध्यम से आरोपियों को सजा दिलाई जाएगी. एसएसपी आशीष भारती ने मामले की जांच कराकर सभी दोषियों का शिनाख्त कर गिरफ्तारी सुनिश्चित करने की बात कही. उन्होंने कहा कि अमानवीय हरकत में शामिल आरोपियों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जायेगा.





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here