जीएमसीएच-32 का मामला: बीएससी नर्सिंग के स्टूडेंट की संदिग्ध हालत में मौत, घरवाले बोले- हत्या हुई है

0
3


चंडीगढ़2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

अमर हसन मीर

जीएमसीएच-32 के बॉयज हॉस्टल में बीएससी नर्सिंग फाइनल ईयर के स्टूडेंट की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। वीरवार रात करीब डेढ़ बजे साथ वाले रूम में रहने वाला तौफिक और दो पूर्व स्टूडेंट बैनी और आशीष 21 साल के अमर हसन मीर को अस्पताल की इमरजेंसी में लेकर आए। डॉक्टर्स ने चेक करने के बाद मीर को ब्रॉटडेड घोषित किया।

शनिवार को डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया गया। मौत कैसे हुई, इसके बारे में स्थिति साफ नहीं हो पाई है। विसरा जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया है। लैब से रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण साफ हो पाएगा। इधर, घरवालों ने मेल के माध्यम से सेक्टर-34 पुलिस को शिकायत भेजी है। इसमें कहा है कि उनके बेटे की हत्या की गई है, इसलिए गहन जांच कर आरोपियों का पता लगाया जाए। अमीर के छोटे भाई इयाज हसन ने बताया कि उनके पिता प्राइवेट स्कूल में टीचर हैं। वह खुद बीटेक कर रहा है और उसके बड़े भाई अमीर के बीएससी नर्सिंग के चार साल पूरे होने वाले थे। मात्र तीन चार महीने रह गए थे।

अमीर जीएमसीएच-32 के बॉयज हॉस्टल के रूम नंबर 108 में रहता था, जबकि कश्मीर का तौफिक पास के रूम में रहता है। वीरवार रात साढ़े 9 बजे अमीर की फोन पर घरवालों से बात हुई थी। रात करीब दो बजे पहले तौफिक और उसके बाद कॉलेज प्रिंसिपल का फोन आया कि अमीर हम सब को छोड़कर चला गया।

इयाज ने बताया कि फोन सुनकर उनको विश्वास ही नहीं हुआ, फिर उसने दोबारा से प्रिंसिपल को फोन किया तो उन्होंने बताया कि अमीर अपने रूम में गिरा पड़ा था, जब उसे अन्य स्टूडेंट इमरजेंसी में लेकर आए तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। आंख-कान के पास चोट के निशान कैसे आए.. शव लेने के लिए आए अमीर के चाचा नाजीर अमीर ने बताया कि यह मामला संदिग्ध है क्योंकि पोस्टमार्टम में भी मौत का कारण साफ नहीं हो पाया है। बाकायदा डाॅक्टर्स के पैनल ने पोस्टमार्टम किया और कारण जानने के लिए िवसरा लैब भेजा है। पुलिस ने अमीर के रूम की वीडियोग्राफी भी करवाई है।

यह मामला इसलिए संदिग्ध है कि एक तो अमीर की राइट साइड आंख के पास चोट का निशान था और दूसरा कान के पास भी चोट थी। अमीर एक होनहार स्टूडेंट था, न तो कोई नशा करता था न किसी से कोई झगड़ा था और न पैसों का कोई लेनदेन। बड़ी बात उसे कोई बीमारी भी नहीं थी तो दौरा पड़ने से मौत हो गई यह बात भी गलत है। रिश्तेदारों का आरोप है कि अमीर के साथ कुछ गलत किया गया है, जिससे उसकी मौत हुई है। एडिशनल एसएचओ जसकरण सिंह ने कहा कि पुलिस ने डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया। शिकायत आई है और जांच की जा रही है। बिसरा जांच के लिए भेजा है और रिपोर्ट आने पर ही मौत का कारण साफ हो पाएगा।

ये सवाल हैं, जिनके जवाब की तलाश…

1 तौफिक से जब बात करने का प्रयास किया गया तो उसने साफ मना कर दिया कि वह कुछ नहीं बता सकता। क्योंकि रिश्तेदारों के अनुसार तौफिक अपने बयान बार-बार बदल रहा है। बाहर से हाॅस्टल में घुसे बन्नी व आशीष नाम के एक्स स्टूडेंट्स ने सबसे पहले तौफिक को जाकर बताया कि अमीर रूम में गिरा पड़ा है। 2 रात को बाहर के युवकों का हॉस्टल में क्या काम, जिन बन्नी और आशीष नाम के स्टूडेंट्स के नाम लिया जा रहा है वे दो साल पहले यहां से पासआउट हो चुके हैं। देर रात किस की परमिशन से दोनों हॉस्टल में घुसे और क्या करने के लिए आए थे। 3 अमीर बिल्कुल तंदुरुस्त था तो एक दम ऐसा क्या हुआ कि उसकी मौत हो गई। उसके कान व आंख के पास चोट कैसे लगी। शरीर के अन्य किसी भी हिस्से पर कहीं पर भी कोई चोट नहीं थी।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here