जालंधर में साजिश: मनचाहा दहेज नहीं मिला तो पत्नी को सवा महीने की बच्ची संग मायके छोड़ा; बिना तलाक पति ने रचाई दूसरी शादी, प्राॅपर्टी में हिस्सा न मांगे इसलिए मां-बाप ने कागजों पर कर दिया बेदखल

0
6


  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • If The Desired Dowry Is Not Received, The Wife Divorces Her Husband Without Leaving The Maternal Home With A Quarter month old Child, The Husband Did Not Ask For A Share In The Property, The Parents Evicted

जालंधर26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस ने पति, सास-ससुर व जेठ पर केस दर्ज किया ह। – प्रतीकात्मक फोटो

मनचाहा दहेज नहीं मिला तो पति ने सवा महीने की बेटी के साथ पत्नी को मायके छोड़ा और दूसरी लड़की से शादी रचा ली। यही नहीं, वह कहीं प्रॉपर्टी में अपना हिस्सा न मांग ले, इसलिए मां-बाप ने पति को कागजों में बेदखल भी कर दिया। मामले की शिकायत पुलिस तक पहुंची तो जांच के बाद आरोपी पति, सास-ससुर व जेठ पर दहेज मांगने व बिना तलाक के शादी रचाने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है।

बाइक की जगह मांग रहे थे कार, पत्नी से बोला पति- कार व सोना लेकर ही ससुराल आना

गांव राजेवाल की रहने वाली सीमा ने बताया कि उसकी शादी फिरोजपुर की जीरा तहसील के कुसुवाला मोड़ के रहने वाले मेजर सिंह के साथ हुई थी। इसके कुछ दिन बाद ही ससुराल वाले उसे दहेज के लिए तंग करने लगे। वह बाइक की जगह कार मांगने लगे। इसके बाद उसके साथ मारपीट की गई। इसके बाद उसने बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जन्म के सवा महीने बाद ही पति मेजर सिंह दोनों को मायके ले आया। अगले दिन सुबह ही वो वापस चला गया। जाते समय उसने कहा कि सोना व कार लेकर ही वापस ससुराल आना। इसके बाद पत्नी को पता लगा कि उसके पति मेजर सिंह ने फिरोजपुर के गांव मंझवाला की लड़की से शादी कर ली। शादी करने से पहले उसने तलाक भी नहीं लिया।

पुलिस जांच में खुली साजिश की परतें

पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि मारपीट के बाद कई बार मायके वालों ने जाकर उन्हें समझाया लेकिन पति मेजर सिंह, ससुर मुख्तियार सिंह, सास वीरो व जेठ अमरजीत बाज नहीं आए। जिस दिन वह पत्नी व बच्ची को मायके छोड़ गया, उसी दिन मनदीप कौर नामक लड़की से शादी कर ली। इसके बाद फिरोजपुर में जिला एवं सेशन जज की अदालत में लड़की के पिता के खिलाफ सिक्योरिटी के लिए याचिका दायर कर दी। पुलिस के मुताबिक अगर इस साजिश में आरोपी के माता-पिता व भाई शामिल नहीं थे और उन्हें दूसरी शादी से एतराज था तो फिर पति ने उनके खिलाफ याचिका क्यों नहीं लगाई?। यही नहीं, पति मेजर के दूसरी शादी रचाने के बाद ससुराल वालों ने उसे बेदखल कर दिया, ताकि पीड़ित सीमा उनकी प्रॉपर्टी में हिस्सा न मांग सके।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here