जालंधर में कोरोना से मौतें रोकने के लिए आदेश: इंडस्ट्री से पहले अस्पतालों को सप्लाई करें ऑक्सीजन, लापरवाही हुई तो प्लांट मालिकों पर होगा एक्शन

0
2


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जालंधर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

DC घनश्याम थोरी ने कहा कि पुलिस, जोनल लाइसेंसिंग अथॉरिटी व फैक्ट्रीज डिप्टी डायरेक्टर को आदेश लागू करने के आदेश दिए गए हैं।

कोरोना से लगातार दम तोड़ रहे लोगों को बचाने के लिए जिला मजिस्ट्रेट घनश्याम थोरी ने बड़ा कदम उठाया है। बुधवार को उन्होंने आदेश जारी किए कि ऑक्सीजन प्लांट से पहले ऑक्सीजन अस्पतालों को दी जाएगी। इसके बाद ही इंडस्ट्री को सप्लाई होगी। अगर किसी ने इसमें लापरवाही बरती तो ऐसे प्लांट मालिकों के खिलाफ प्रशासन कड़ा एक्शन लेगा। इन आदेशों को सख्ती से लागू कराने के लिए पुलिस, जोनल लाइसेंसिंग अथॉरिटी(ड्रग्स) और फैक्ट्रीज के डिप्टी डायरेक्टरों का हिदायत दी गई है।

DC घनश्याम थोरी ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण की वजह से पॉजिटिव मरीजों की गिनती रोजाना बढ़ रही है। ऐसे में उनके इलाज के लिए ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। यह तभी संभव है, जब अस्पतालों में पर्याप्त ऑक्सीजन हो। उन्होंने कहा कि जिले में 3 ऑक्सीजन प्लांट हैं। उन्हें आदेश दिया गया है कि यह प्लांट निर्धारित रेटों पर अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई करें। अगर अस्पतालों की जरूरत पूरी होने के बाद ऑक्सीजन बचती है तो ही इंडस्ट्री को दें।

इसलिए जरूरी था यह कदम

जिले में कोरोना संक्रमण जानलेवा हो चुका है। कोरोना से मरने वालों की संख्या एक हजार के करीब पहुंच चुकी है। पहले लोग हलके लक्षण पर भी कोविड टेस्ट करा लेते थे लेकिन अब इसमें देरी कर रहे हैं। जब तक उनमें कोविड की पुष्टि होती है, तब तक उनके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर काफी घट चुका होता है। ऐसे में मौत की आशंका ज्यादा हो जाती है। अस्पताल में इलाज के लिए लाने पर उन्हें तुरंत अॉक्सीजन की जरूरत होती है। ऐसे में कोरोना के मरीजों को तुरंत ऑक्सीजन मिल सके, इसके लिए यह कदम उठाना बेहद जरूरी था ताकि इसकी कमी से कोई दम न तोड़े।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here