चौथी तिमाही के नतीजे जारी: इंफोसिस को 5,074 करोड़ रुपए का प्रॉफिट; एक्सपर्ट्स की सलाह- शेयर में निवेश जारी रखें, 35% से ज्यादा का रिटर्न संभव

0
1


  • Hindi News
  • Business
  • Infosys Q4 Results 2021 Update | Infosys Financial Results Earning And Net Profit Latest News Today Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबईएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

IT सेक्टर की कंपनी इंफोसिस ने बुधवार को चौथी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं। कंपनी को जनवरी से मार्च के दौरान 5,074 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ है। यह तीसरी तिमाही में 5,193 करोड़ रुपए था। इसके अलावा बोर्ड ने 9200 करोड़ रुपए का शेयर बायबैक भी मंजूर कर दिया है। बायबैक में एक शेयर की कीमत 1750 रुपए तय की गई है। कंपनी का रेवेन्यू भी 26,311 करोड़ रुपए रहा।

बायबैक की संभावना से सोमवार को इंफोसिस का शेयर 3% चढ़कर 1,480 पर पहुंच गया था, जो छह साल का सबसे ऊंचा स्तर भी है। 2021 में अब तक शेयर 11% चढ़ा है, जबकि निफ्टी IT इंडेक्स 6.6% ही बढ़ा है।एक्सचेंज फाइलिंग के मुताबिक मार्च 2021 तक इंफोसिस में प्रमोटर और प्रमोटर ग्रुप की हिस्सेदारी 12.95% रही। अन्य सभी हिस्सेदारी पब्लिक, म्यूचुअल फंड, FPI और वित्तीय संस्थानों की है।

सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी TCS ने चौथी तिमाही के जारी किए। कंपनी का प्रॉफिट जनवरी से मार्च के दौरान 9,246 करोड़ रुपए रहा। रेवेन्यू भी करीब 10% बढ़कर 43,705 करोड़ रुपए रहा।

शेयर न्यू हाई पर जाएगा, निवेशकों को निवेश की सलाह
मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के चंदन तापड़िया के मुताबिक इंफोसिस के नतीजे अच्छे हैं। कंपनी ने 1750 रुपए पर शेयर बायबैक करने की घोषणा की है, जो कि मौजूदा स्तर से करीब 25% ज्यादा है। 9200 करोड़ रुपए का यह बायबैक कुल इक्विटी का 1.23% है।

उन्होंने ने कहा कि नतीजे और बोर्ड की कमेंट्री का शेयर पर पॉजिटिव इंपैक्ट रहेगा। शेयर एक बार फिर गुरुवार को नए हाई को टच करेगा। निवेशकों को इंफोसिस के शेयर में निवेश की सलाह होगी और पहले से निवेश है तो इसमें बने रहने की सलाह है।

रिलायंस सिक्योरिटीज के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट सुयोग कुलकर्णी के मुताबिक शेयर 1,920 रुपए तक पहुंच सकता है। इसके लिए निवेशकों को 2 साल इंतजार करना होगा। मंगलवार को यह 1,403 रुपए पर बंद हुआ था।उन्होंने कहा कि कंपनी की रेवेन्यू में 10% से ज्यादा की ग्रोथ रही है। इसके अलावा डिजिटल बिजनेस में कंपनी की हिस्सेदारी भी बढ़ी है। ऐसे में ब्रोकरेज हाउसेज शेयर पर अपना टार्गेट बढ़ा सकते हैं।

कोरोना के बीच IT सेक्टर में बिजनेस ग्रोथ
कोरोना के इस दौर में इकोनॉमी पर बुरा असर पड़ा है, लेकिन वर्क फ्रॉम होम से IT और हेल्थ के चलते फार्मा सेक्टर से जुड़ी कंपनियों के कारोबार में अच्छी ग्रोथ देखने को मिला। ऐसे में मार्केट एनालिस्ट को उम्मीद है कि इंफोसिस सहित विप्रो, टेक महिंद्रा और IT कंपनियां अच्छी तिमाही नतीजे पेश करेंगी।

तीन साल में डबल हुआ नेटवर्थ
खास बात यह है कि 2018 में से अब तक कंपनी की नेटवर्थ डबल हो गई है। तीन साल में यह 33 अरब डॉलर से बढ़कर 69 अरब डॉलर हो गया है। इसमें बड़ी भूमिका सलील पारेख है, जिन्होंने 2018 से कंपनी की कमान मजबूती से संभाला। सलील पारेख तब से अब तक कंपनी के CEO और MD हैं।

नई हायरिंग पर हो सकता है बड़ा ऐलान
वर्क फ्रॉम होम के समय में IT सेक्टर की डिमांड बढ़ी है। ऐसे में कंपनी हायरिंग पर बड़े ऐलान कर सकती है। TCS ने भी कहा है कि 2021-22 के दौरान वह 40 हजार से ज्यादा फ्रेशर को हायर करेगा। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के मुताबिक इंफोसिस की योजना एट्रिशन दर (कंपनी छोड़कर जाने वाले कर्मचारियों की दर) 10% से नीचे लाने की होगी, जो दिसंबर तिमाही में 15% से भी ज्यादा रही थी।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here