चीन में 1,000 साल बाद सबसे भयंकर बारिश से 33 मरे, अस्पतालों में घुसा पानी

0
4


बीजिंग .  चीन में 1,000 वर्षों में हुई सबसे भारी बारिश में मरने वालों की संख्या 33 हो गई है जबकि आठ लोग लापता हैं. बाढ़ प्रभावित झेंगझोऊ शहर में अधिकारी बाढ़ के पानी के कारण अस्पतालों में फंसे मरीजों और चिकित्साकर्मियों को बाहर निकालने का प्रयास कर रहे हैं. अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. प्रांतीय आपातकालीन प्रबंधन विभाग ने बताया कि मूसलाधार बारिश से हेनान प्रांत में करीब 30 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और कुल 3,76,000 स्थानीय लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की बृहस्पतिवार की खबर के मुताबिक भयंकर बाढ़ के एक दिन बाद अधिकारी उन अस्पतालों से मरीजों को निकालने का प्रयास करते रहे जहां बाढ़ का पानी घुस गया है. बाढ़ के कारण हेनान में अनेक अस्पताल प्रभावित हुए हैं और उनके भीतर मरीज, उनके परिजन तथा चिकित्साकर्मी फंसे हुए हैं. फुवाई अस्पताल में बाढ़ का पानी घुस गया है. बृहस्पतिवार सुबह बचावकर्मियों ने मरीजों, उनके परिजनों और चिकित्साकर्मियों को अन्य स्थानों पर ले जाने की शुरुआत की. अब तक करीब पांच हजार लोगों को निकाला जा चुका है.

ये भी पढ़ें :  220 एकड़ में बना चीन का सबसे बड़ा डिटेंशन सेंटर, जानें कितने कैदियों को रखा सकता है यहां…

अस्पताल के उपाध्यक्ष गाओ चुआन्यू ने शिन्हुआ को बताया, ‘‘1,075 मरीज जिनमें से 69 की हालत गंभीर है, अस्पताल में भर्ती हैं. परिजनों की संख्या करीब 1,300 है. ’’ शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार भारी बारिश से 2,15,200 हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल में फसलों को नुकसान हुआ है. इससे करीब 1.22 अरब युआन (लगभग 18.86 करोड़ अमेरिकी डॉलर) का सीधा आर्थिक नुकसान हुआ है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बारिश का ऐसा कहर दुर्लभ ही देखने को मिलता है. भारी बारिश के कारण उत्पन्न हुई स्थिति से 1.26 करोड़ की आबादी वाली प्रांतीय राजधानी झेंगझोऊ में सार्वजनिक स्थानों और ‘सबवे टनल’ में पानी भर गया है. चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने पिछले एक हजार साल में पहली बार हुई ऐसी भीषण बारिश के बाद एक नदी में पानी के बढ़ते स्तर के बीच एक क्षतिग्रस्त बांध को विस्फोट से उड़ा दिया ताकि जमा पानी को दूसरी दिशा में मोड़ा जा सके.

ये भी पढ़ें :  अमेरिकी सैनिकों ने माना- हम तालिबान से 100 फीसदी जंग हार गए, मकसद नहीं हुआ पूरा

बाढ़ के कारण सबवे स्टेशनों पर पानी भरने से 12 लोगों की मौत हो गई तथा पांच अन्य घायल हो गए. मंगलवार रात को तेजी से बढ़ता बाढ़ का पानी सबवे ट्रेन में घुस गया जो यात्रियों की मौत का कारण बना. दो अन्य लोगों की मौत दीवार ढहने से हो गई.  चीन के सोशल मीडिया पर डाले गए वीडियो में नजर आ रहा है कि ट्रेन में फंसे यात्रियों के गले तक बाढ़ का पानी पहुंच गया है और दहशत में आए यात्री हैंडलबार पकड़कर मदद का इंतजार कर रहे हैं. आधिकारिक मीडिया की ओर से जारी वीडियो में बचावकर्मी सबवे सुरंगों में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालते नजर आ रहे हैं. वीडियो में कारें और अन्य वाहन पानी में बहते दिख रहे हैं, तो कई अन्य वीडियो में सड़कें धंसते और उनमें लोग गिरते दिख रहे हैं.

राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने बाढ़ की स्थिति को गंभीर बताते हुए पीएलए की तैनाती का आदेश दिया और कहा कि सभी स्तर के अधिकारियों को जानमाल की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देनी चाहिए. शिन्हुआ ने शी के हवाले से कहा कि बारिश ने बाढ़ नियंत्रण संबंधी हालात को गंभीर बना दिया है जिससे झेंगझोऊ तथा अन्य शहरों में व्यापक जलभराव हो गया है. कई नदियों में पानी खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. झेंगझोऊडोंग रेलवे स्टेशन पर 160 से अधिक यात्री गाड़ियों को रोक दिया गया. झेंगझोऊ हवाईअड्डे पर 260 उड़ानें रद्द कर दी गईं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here