चंडीगढ़ में बिजनेसमैन,होटल मालिक और बार मालिक से मांगी जा रही थी फिरौती, लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के  गुर्गों के खिलाफ केस दर्ज

0
1


  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • A Ransom Was Being Sought From Businessmen, Hotel Owners And Bar Owners In Chandigarh, A Case Was Registered Against The Gangsters Of Lawrence Bishnoi Gang.

चंडीगढ़27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दरअसल यूटी पुलिस को गुुप्त सूचना मिली थी कि जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गें चंडीगढ़ में एक्टिव हैं जो कि शहर के लोगों को डराकर उनसे फिरौती मांग रहे हैं।

  • चंडीगढ़ पुलिस शहर में जेल के अंदर बैठे हुए अपराधियों के बाहर घूम रहे गुर्गों को पकड़ने में जुट गई है, जिसके तहत पुलिस ने एक केस रजिस्टर किया है
  • पुलिस ने धारा 384 यानी फिरौती मांगना, आर्मस एक्ट के तहत दर्ज की है, जिसमें चंडीगढ़ के रहने वाले कुछ युवकों को नामजद किया है

(अभिषेक धीमान). शहर में बढ़ रही आपराधिक गतिविधियों पर नकेल कसने की यूटी पुलिस में तैयारी शुरू कर दी है। इसके चलते चंडीगढ़ पुलिस शहर में जेल के अंदर बैठे हुए अपराधियों के बाहर घूम रहे गुर्गों को पकड़ने में जुट गई है। जिसके तहत पुलिस ने एक केस रजिस्टर किया है। पुलिस ने धारा 384 यानी फिरौती मांगना,आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज की है। जिसमें चंडीगढ़ के रहने वाले कुछ युवकों को नामजद किया है।अब पुलिस उनकी तलाश करने में जुट गई है।

दरअसल यूटी पुलिस को गुुप्त सूचना मिली थी कि जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गें चंडीगढ़ में एक्टिव हैं जो कि शहर के लोगों को डराकर उनसे फिरौती मांग रहे हैं। फिरौती मांगने के लिए वह जब जाते हैं तो वह जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई से उनकी बात भी करवाते है। इस पर पुलिस ने जांच करने के बाद केस दर्ज कर लिया है।

इनके खिलाफ दर्ज किया गया मामला

पुलिस ने केस पलसोरा के रहने वाले और काउंसलर के इलेक्शन में बतौर कैंडिडेट खड़े हुए राजेश पासवान, डड्‌डूमाजरा के रहने वाले रिंकू, दीपक कूंडू और उनके साथियों को एफआईआर में नामजद किया है।

सहदेव सलारिया की पार्टी में चलाई थी गोलियां

एफआईआर रजिस्टर होने वालों में राजेश पासवान और रिंकू के खिलाफ बीते साल पुलिस ने सहदेव सलारिया की पार्टी में गोली चलाने के आरोप में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया था। इसके बाद रिंकू के खिलाफ हालही में सेक्टर 38 में हुई एक पार्टी में मारपीट करने और ध्वनि प्रदुषण करने के तहत मामला दर्ज किया गया है। वहीं इस मामले में कई अन्य लोग भी शामिल है।

आखिर कैसे करता है लॉरेंस जेल से फोन पर बात

बीते शनिवार को जेल में कैद लॉरेंस बिश्नोई के करीबी गुरलाल बराड़ की इंडस्ट्रियल एरिया में गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसके बाद लॉरेंस बिश्नोई के नाम से एक पोस्ट शेयर की गई थी। वहीं पुलिस द्वारा रजिस्टर एफआईआर के मुताबिक भी जेल से लॉरेंस बिश्नोई फोन इस्तेमाल कर रहा है। यह सारा कुछ लिखित में होने के बावजूद जेल प्रशासन उसके पास फोन पहुंचने से रोक पाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रहा है। ऐसे में सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर जेल के अंदर से कैसे लॉरेंस अपने गिरोह को चला रहा है।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here