Advertisement

गुरुवार से खुलीं लैब्स; प्रोफेसर्स का कहना- दिनरात एक कर पूरा करवाएंगे स्टूडेंट्स का सिलेबस,स्टूडेंट्स बोले थीसिस जल्दी सब्मिट करवाने की रहेगी कोशिश


चंडीगढ़13 घंटे पहले

स्टूडेंट चेतना भंडारी ने कहा कि लॉकडाउन था तो सारा काम रुका हुआ था। अब लैब्स खुल गई हैं,हम जल्दी से काम फिनिश करने की कोशिश करेंगे।(फोटो: अश्विनी राणा).

  • अनलॉक-5 के बाद गुरुवार से पंजाब यूनिवर्सिटी और पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी (पेक) की लैब्स खुल गई हैं।

अनलॉक-5 के बाद गुरुवार से पंजाब यूनिवर्सिटी और पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी (पेक) की लैब्स खुल गई हैं। लैब्स खुलने से स्टूडेंट्स और टीचर्स दोनों ही बेहद खुश हैं क्योंकि लंबे समय से पेंडिंग सारा सिलेबस पूरा करने का अब मौका मिलेगा। बता दें कि स्टूडेंट्स और स्कॉलर्स लैब्स खुलने की मांग काफी पहले से कर रहे थे।

पीयू में बायोकेमेस्ट्री डिपार्टमेंट की चेयरपर्सन डॉ. नवनीत अग्निहोत्री ने कहा कि आज से हमारी लैब्स अधिकारिक रूप से खुल गई हैं। ये एक वेल्कमिंग स्टेप है कि बच्चे वापस लैब्स में आ गए हैं क्योंकि कोरोना के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के कारण लैब्स अचानक बंद करनी पड़ी थीं। अब दिन रात 24 घंटे काम करके स्टूडेंट्स का सिलेबस पूरा करवाने की कोशिश करेंगे ताकि वे अपना आगे का करियर पर्सयु करें।

वहीं स्टूडेंट चेतना भंडारी ने कहा कि उनका काम एनिमल मॉडल पर है। इतने टाइम से जब लॉकडाउन था तो एनिमल ग्रुप्स क्लास लगा नहीं पाए थे और काम रुका हुआ था। अब लैब्स खुल गई हैं,हम जल्दी से काम फिनिश करने की कोशिश करेंगे ताकि समय रहते अपने थीसिस सब्मिट कर सकें।

बता दें कि लैब्स खोलने के लिए दोनों संस्थानों ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) तैयार कर लिया है। मंगलवार को डीन रिसर्च प्रो. वीआर सिन्हा ने कुछ लैब का जायजा लिया था। इसके साथ ही डिपार्टमेंट को कहा गया कि वह अपने स्तर पर एसओपी तैयार करें, जिससे स्कॉलर्स फॉलो करेंगे। हर डिपार्टमेंट को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने हिसाब से अलग एसओपी तैयार करें।ये एसओपी हर रिसर्च स्कॉलर के पास होनी चाहिए।

टेंपरेचर होगा रिकॉर्ड

  1. पीयू की एसओपी के अनुसार रोजाना का टेंपरेचर चेक करके इसका रिकॉर्ड करना होगा, मास्क जरूरी है
  2. सैनिटाइजेशन रोजाना की जाएगी
  3. लैब के साइज अनुसार रिसर्च स्कॉलर्स की संख्या तय की जाएगी
  4. सभी चेयरपर्सन व सुपरवाइजर कोविड 19 सिंप्टम के लिए रिसर्च स्कॉलर्स को देखेंगे
  5. री-यूजेबल मास्क होगा जरूरी, सिंप्टम देखते ही बताएं पेक प्रशासन को
  6. पेक की एसओपी के अनुसार इंस्टीट्यूट के अंदर फेस कवर और पब्लिक प्लेसेज पर
  7. मास्क पहनना जरूरी

एयर कंडीशन को अवॉयड किया जाए और नैचुरल वेंटिलेशन का अधिकाधिक उपयोग करें

कॉरीडोर या कहीं से निकलते हुए बेवजह किसी सरफेस को छने से बचें, सभी के लिए री-यूजेबल मास्क पहनना जरूरी किसी में कोविड 19 के सिंप्टम देखते ही तुरंत सूचित करें।



Source link

Advertisement
sabhijankari:
Advertisement