गुड न्यूज: सरकारी अस्पताल में खुला ऑक्सीजन वाला पहला आइसोलेशन सेंटर

0
1


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डेराबस्सीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सिविल अस्पताल में तैयार 10 बेड का कोविड आइसोलेशन सेंटर

  • लाखों खर्च कर परनोड कंपनी ने किया पुरुष वार्ड का कायाकल्प, मरीज को कम खर्च पर लेवल टू तक की मिलेगी सुविधा

डेराबस्सी सब डिवीजनल सिविल अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों को तरंतु राहत का बंदोबस्त आखिरकार कर लिया गया। यहां ऑक्सीजन सुविधा से लैस 10 बेड का कोविड आइसोलेशन सेंटर तैयार कर अस्पताल मरीजों को समर्पित कर दिया गया। यह सराहनीय काम परनोड रिकाॅर्ड इंडिया फाउंडेशन कंपनी ने लाखों रुपए खर्च कर यहां के पुरुष वार्ड को आइसोलेशन सेंटर में बदलकर किया है।

इसका रस्मी उद्‌घाटन आज डेराबस्सी के एसडीएम कुलदीप बावा ने डीएसपी डेराबस्सी गुरबख्शीश सिंह मान के साथ किया। उनके साथ कंपनी के मैन्युफैक्चरिंग जीएम प्रशांत गेरा, यूनिट हैड जतिंदर गुजराती, प्रबंधक सचिन साहू के अलावा डेराबस्सी की एसएमओ डॉ. संगीता जैन भी मौजूद थीं।

डॉ. संगीता जैन ने बताया कि हलका डेराबस्सी में सरकारी तौर पर कहीं भी ऑक्सीजन सुविधा से लैस एल-वन स्टेट्स का कोविड आइसोलेशन सेंटर नहीं है। परनोड कंपनी ने 18 बाई 58 फीट में पुराने पुरुष वार्ड को आइसोलेशन सेंटर में बदला है। पूरे वार्ड विट्रीफाइड टाइल्स, सात फीट तक दीवारों पर टाइलें, तीन एयरकंडीश्नर, दो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 10 मेडिकल बेड, बेड के प्राइवेट पर्दे, चार मल्टीपर्पज स्टैंड, डस्टबिन इत्यादि उपकरण मुहैया कराए हैं।

आइसोलेशन सेंटर खुलने से यहां कोविड मरीजों को कुछ समय के लिए ऑक्सीजन की तरंुत सुविधा प्रदान की जा सकती है। मरीज को प्राइवेट अस्पतालों के मंहगे खर्च के लिए धक्के नहीं खाने पड़ेंगे। सरकारी तौर पर लेवल-दो का कोविड आइसोलेशन सेंटर मोहाली फेज-6 में ही मौजूद है। ऐसे में दूरदराज हरियाणा सीमा तक के रिमोट गांवों समेत डेराबस्सी हलके कोविड मरीजों को डेराबस्सी सरकारी अस्पताल में कम खर्च पर लेवल टू तक की सुविधा आसानी से सुलभ हो गई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here