गहलोत सरकार का बड़ा ऐलान, आर्थिक रूप से कमजोर कलाकारों को मिलेगी 5 हजार की सहायता राशि

0
2


राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर कलाकारों को आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है. (File)

CM अशोक गहलोत ने कोविड महामारी से उत्पन्न विषम परिस्थितियों के चलते आर्थिक समस्या का सामना कर रहे प्रदेश के कलाकारों के लिए 5 हजार रूपए की एकमुश्त सहायता प्रदान करने का ऐलान किया है.

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Gehlot government) ने कोविड महामारी से उत्पन्न विषम परिस्थितियों के चलते आर्थिक समस्या का सामना कर रहे प्रदेश के कलाकारों को सम्बल देने के लिए उन्हें 5 हजार रूपए की एकमुश्त सहायता प्रदान करने का निर्णय किया है. गहलोत के इस संवेदनशील फैसले से आर्थिक रूप से कमजोर एवं जरूरतमंद करीब 2 हजार कलाकारों को राहत मिल सकेगी. यह सहायता राशि कलाकार कल्याण कोष के माध्यम से प्रदान की जाएगी. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने इस वर्ष राज्य बजट में जरूरतमंद कलाकारों के कल्याण एवं उन्हें संबल प्रदान करने के लिए इस कोष में 15 करोड़ रूपए का प्रावधान किया है.

गहलोत ने दिया राज्य कर्मचारियों को बोनस 

इससे पहले बुधवार को कोरोना संकट होने के बावजूद भी प्रदेश की गहलोत सरकार ने लाखों राज्य कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है. राज्य के वित्त विभाग ने स्टेट इंश्योरेंस पॉलिसी पर बोनस देने के आदेश जारी किए हैं. राज्य बीमा विभाग की 31 मार्च, 2018 को बीमा निधि की बीमांकिक मूल्यवान रिपोर्ट में की गई सिफारिश के आधार पर बोनस घोषित किए जाने की स्वीकृति प्रदान की गई है. राज्य सरकार के इस निर्णय से लाखों कर्मचारियों को आर्थिक फायदा मिलेगा.इसके तहत 1 अप्रैल 2017 को या उसके बाद और 31.3.2018 तक स्वीकृत सावधि जमा बॉन्ड पर ब्याज मिलेगा. प्रत्येक एक हजार रुपये पर 90 रुपये प्रतिवर्ष का साधारण रिवर्सरी बोनस मिलेगा. वहीं 31 मार्च 2018 को लागू सारे आजीवन बीमा बॉन्ड पर भी प्रत्येक एक हजार पर 112.5 रुपये प्रतिवर्ष का साधारण रिवर्सरी बोनस मिलेगा.

आज से प्रदेश में शुरू हो गया बसों का संचालन

इधर, राजस्थान में त्रिस्तरीय जन-अनुशासन मॉडिफाइड लॉकडाउन की नई गाइडलाइन के तहत प्रदेश में कल यानि 10 जून से सरकारी और प्राइवेट बसों का संचालन शुरू हो जाएगा. फिलहाल 50% क्षमता के साथ ही रोडवेज बसों का संचालन होगा. मॉडिफाइड लॉकडाउन के तहत जारी दिशा-निर्देशों की पालना के साथ बसों का संचालन होगा. 10 मई को प्रदेश में संपूर्ण लॉक डाउन लागू होने के बाद बसों का संचालन बंद करवा दिया गया था. गृह विभाग की गाइडलाइन की पालना के तहत राज्य परिवहन विभाग ने सरकारी बसों के संचालन के आधिकारिक आदेश भी जारी कर दिए है. करीब 1 महीने से बस डिपो में खड़ी हुई थी.







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here