गली में लड़कों की विकेट उड़ाती थीं, आज वर्ल्ड प्लेटफॉर्म पर दिग्गजों को बोल्ड करने को तैयार काश्वी

0
1


चंडीगढ़एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

काश्वी चंडीगढ़ की पहली खिलाड़ी हैं, जिन्हें वुमन आईपीएल के लिए चुना गया है। उन्हें स्मृति मंधाना की कप्तानी वाली टीम में शामिल किया गया है।

  • वुमन आईपीएल चैलेंजर में खेलेंगी सिटी स्टार काश्वी
  • ये कामयाबी हासिल करने वाली चंडीगढ़ की पहली क्रिकेटर

(गौरव मारवाह). सिटी ब्यूटीफुल के सेक्टर-37 की गलियों में एक खिलाड़ी लगातार विकेट निकाल रहा था और साथी खिलाड़ियों के अलावा किसी को अंदाजा नहीं था कि ये कौन है। किसी ने नहीं सोचा था कि ये खिलाड़ी आने वाले समय में वर्ल्ड प्लेटफॉर्म पर आईपीएल में खेलेगा।

सभी को लगता था कि ये खिलाड़ी एक लड़का है, लेकिन असल में ये एक लड़की थी। नाम है- काश्वी गौतम। काश्वी चंडीगढ़ की पहली खिलाड़ी हैं, जिन्हें वुमन आईपीएल के लिए चुना गया है। उन्हें स्मृति मंधाना की कप्तानी वाली टीम में शामिल किया गया है। यूटी क्रिकेट एसोसिएशन ने उन्हें इसी कामयाबी के लिए सम्मानित किया।

काश्वी को तैयार करने का क्रेडिट उनके कोच नागेश गुप्ता को जाता है। उन्होंने ही काश्वी को एक लोकल प्लेयर से इंटरनेशनल प्लेयर बनने में मदद की है। नागेश ने कहा कि वो मेरे पास 2017 में आई थी। उसे क्रिकेट खेलना आता था, लेकिन ज्यादा टेक्निकल नॉलेज नहीं थी। उसे मेरे दोस्त और पूर्व रणजी क्रिकेटर संजय ढुल ने देखा और मेरे पास भेजा। संजय ने उसे गली में लड़कों के विकेट गिराते देखा था। उसने उसके पिता से कहा कि आपका बेटा अच्छा क्रिकेटर है, उसे एकेडमी भेजें, तब उनके पिता ने बताया कि ये लड़की है और तब मेरे पास उसे भेजा गया।

कभी ट्रेनिंग मिस नहीं की
नागेश ने कहा कि उसने मेरे पास सेक्टर-32 गवर्नमेंट स्कूल एकेडमी में ट्रेनिंग शुरू की थी। दो साल हमने वहीं पर अभ्यास किया। इसके बाद मुझे सेक्टर-26 गवर्नमेंट स्कूल एकेडमी भेज दिया गया, तो काश्वी वहां पर भी मेरे साथ ही ट्रेनिंग करने आ गई। उसने बहुत मेहनत की और वो कभी ट्रेनिंग मिस नहीं करती थी। कई बार ऐसा होता था कि वो मेरे से भी पहले ग्राउंड में पहुंचती थी।

तेजी थी, लय बाद में हासिल की
बीसीसीआई लेवल-2 कोच नागेश ने कहा कि वो जब आई थी तो उसकी बॉलिंग में तेजी थी, लेकिन बॉल को कहां पर प्लेस करना है, लेंथ कैसी होनी चाहिए, इस बारे में उसे कम पता था। हमने उसकी नेचुरल स्ट्रेंथ को कायम रखते हुए ही उसे तैयार किया और आज वो एक कमाल की गेंदबाज है। पहले वो ज्यादा बल्लेबाजी नहीं करती थी, लेकिन आज उसकी बल्लेबाज भी अच्छी है।



Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here