कांग्रेस के आंतरिक चुनावों पर कल CEA पैनल करेगी बड़ी बैठक, राहुल-सोनिया भी होंगे शामिल

0
2


(PTI Photo)

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने साल 2019 का लोकसभा चुनाव (Lok sabha Election 2020) हारने के बाद अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. उसके कुछ महीने के बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया. कांग्रेस के यह चुनाव पहले होने ही थे लेकिन कोरोना वायरस महामारी के चलते इसमें देरी हुई.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 13, 2020, 7:09 AM IST

नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress)के नवगठित केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (CEA) कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के बीच अगले कुछ महीनों में संगठनात्मक चुनाव कैसे हों, इसकी प्रक्रिया पर चर्चा करने के लिए बुधवार को बैठक की जाएगी. पार्टी ने पहले ही सभी राज्य इकाइयों को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) के प्रतिनिधियों की अपडेटेड लिस्ट भेजने के लिए कहा है जो संगठनात्मक चुनावों में मतदान करेंगे. अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार नाम ना प्रकाशित करने की शर्त पर कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि सीईए ने पार्टी के डेटा और टेक्नॉलॉजी डिपार्टमेंट से एआईसीसी सदस्यों के की जानकारियों को वेरिफाई करने में मदद करने के लिए भी कहा है.

अध्यक्ष पद के चुनाव पर होगी चर्चा
उन्होंने कहा कि दिल्ली में पार्टी के मुख्यालय में बुधवार को होने वाली बैठक में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव पर चर्चा होगी. इस मीटिंग में कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) भी शामिल होगी. बीत महीने बड़े संगठनात्मक फेरबदल करते हुए, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आंतरिक चुनाव कराने के लिए सीईए का गठन किया था.  पांच सदस्यीय सीईए की अगुवाई मधुसूदन मिस्त्री कर रहे हैं और इसके सदस्य राजेश मिश्रा, कृष्णा बायर गौड़ा, एस जोथिमणि और अरविंदर सिंह लवली हैं.

24 अगस्त को कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में, सोनिया गांधी और राहुल गांधी दोनों ने एक महीने के भीतर संगठनात्मक चुनाव कराने के लिए पार्टी के सर्वोच्च निर्णय लेने वाले निकाय से कहा था, लेकिन गुलाम नबी आज़ाद सहित कुछ सदस्यों  कहा कि महामारी के कारण यह संभव नहीं है. आखिर में आंतरिक चुनावों को पूरा करने के लिए छह महीने की सीमा तय की गई.

राजनीतिक विश्लेषक सी नरसिम्हा राव ने कहा कि संगठनात्मक चुनाव किसी भी राजनीतिक दल के आंतरिक लोकतंत्र के लिए अच्छे हैं. कहा कि कांग्रेस में, नामांकन कई दशकों से एक अभिन्न अंग बन गया था. किसी भी पार्टी पद के लिए चुनाव कराना अच्छा है लेकिन कांग्रेस को सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर आंतरिक चर्चा की प्रक्रिया को मजबूत करने की कोशिश करनी चाहिए.’





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here