करुण नायर बोले, क्रिकेटर ना बनता तो मां सॉफ्टवेयर इंजीनियर बना देतीं

0
4


नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे दाएं हाथ के बल्लेबाज करुण नायर (Karun Nair) ने अपनी प्रतिभा से सभी को प्रभावित किया था. उन्होंने टीम इंडिया के लिए अपने पहले दो टेस्ट में कुछ कम स्कोर किए लेकिन तीसरे ही टेस्ट मैच में उन्होंने अपनी क्षमताओं की एक झलक दिखाई और तिहरा शतक ठोका. वह दिग्गज ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) के बाद लंबे फॉर्मेट में तिहरा शतक लगाने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बने थे. उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया है कि यदि वह क्रिकेटर ना बनते तो उनकी मां उन्हें सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनाना चाहती थीं.

आईपीएल में पंजाब, राजस्थान, बैंगलोर और दिल्ली की टीमों का प्रतिनिधित्व कर चुके करुण ने ‘क्रिकट्रैकर’ को दिए एक इंटरव्यू में कई सवालों के जवाब दिए. उनसे जब पूछा गया कि वह अगर क्रिकेटर ना होते तो क्या बनते तो उन्होंने कहा, ‘मेरी मां मुझे फिर सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही बना देतीं.’ करुण ने नवंबर 2016 में टेस्ट डेब्यू किया और करियर के अपने तीसरे ही टेस्ट में तिहरा शतक लगाया. एक वक्त में ऐसा लगने लगा था कि उन्होंने टीम में अपनी जगह पक्की कर ली है लेकिन साल 2017 में केवल तीन टेस्ट के बाद ही उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया. वह पिछले चार साल से टेस्ट क्रिकेट नहीं खेले हैं.

करुण घरेलू स्तर पर कर्नाटक के लिए खेलते हैं और अच्छा प्रदर्शन करते हैं. वह फिलहाल इंडियन प्रीमियर लीग में कोलकाता नाइट राइडर्स का हिस्सा हैं. फरवरी में हुई 2021 सीजन की नीलामी में उन्हें ऑयन मॉर्गन की कप्तानी वाली टीम केकेआर ने शामिल किया था. जोधपुर में जन्मे 29 वर्षीय खिलाड़ी ने इंटरव्यू में बताया कि उन्हें साउथ फिल्मों के एक्टर मोहनलाल पसंद हैं.

इसे भी पढ़ें, मिताली राज ने रचा इतिहास, महान सचिन तेंदुलकर के बाद हासिल किया खास मुकाम

उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ तिहरे शतक के बारे में तीन शब्द कहे- अकल्पनीय, उपलब्धि और गर्व. उन्होंने बताया कि वह अपने फोन पर WhatsApp का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं. उन्होंने बताया कि केकेआर के ड्रेसिंग रूम में सबसे आलसी व्यक्ति प्रसिद्ध कृष्णा हैं, जो आईपीएल के दौरान कभी नाश्ते के लिए समय पर नहीं उठते थे. करुण उन्हें फोन करता थे लेकिन वह कभी वक्त पर नहीं उठते थे.

करुण ने क्रिकेट का सबसे अच्छा फॉर्मेट टेस्ट को बताया. उन्होंने वरीयता के क्रम में विश्व क्रिकेट के वर्तमान फैब-4 के बारे में कहा- विराट कोहली, स्टीव स्मिथ, केन विलियमसन और जो रूट. उन्होंने कहा कि मालदीव वह देश है जो सबसे खूबसूरत जगह (जो उन्होंने देखी है) में शामिल है. उन्होंने कहा कि दिग्गज खिलाड़ी और कोच राहुल द्रविड़ की सबसे अच्छी बात यह है कि वह हर खिलाड़ी का समर्थन करते हैं.

इसे भी पढ़ें, WTC-XI में नहीं मिली विराट कोहली को जगह, केन विलियमसन कप्तान; 3 भारतीय शामिल

करुण ने अब तक अपने करियर में 8 ही अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जिनमें 6 टेस्ट और 2 वनडे शामिल हैं. उनके नाम टेस्ट में कुल 374 और वनडे में 46 रन हैं. उन्होंने 82 फर्स्ट क्लास मैचों में कुल 5631 रन बनाए हैं जिनमें 14 शतक और 26 अर्धशतक शामिल हैं. वह फर्स्ट क्लास क्रिकेट में भी तिहरा शतक ठोक चुके हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here